पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

राजीव गांधी हैं महात्मा गांधी पर भारी

राजीव गांधी हैं महात्मा गांधी पर भारी

नई दिल्ली. 16 दिसंबर 2012

राजीव गांधी


भारत सरकार की देश भर में चलने वाली 58 संस्थाएं और परियोजनाओं में से 27 परियोजनायें नेहरु-गांधी परिवार के नाम पर हैं. केंद्र सरकार की योजनाओं में नेहरु-गांधी परिवार का बोलबाला इतना है कि इनके सामने महात्मा गांधी के नाम की योजनाएं भी पीछे रह गई हैं. इन 58 योजनाओं और संस्थाओं में से महात्मा गांधी के नाम पर केवल 4 योजनाएं या संस्थायें चल रही हैं. जबकि राजीव गांधी के नाम पर 16 योजनाएं हैं.

हिसार के आरटीआई कार्यकर्ता रमेश वर्मा को सूचना के अधिकार के तहत जानकारी प्रदान की गई है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर 16 परियोजनाएं एवं संस्थान हैं. जबकि उनकी मां पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर 8 योजनायें चल रही हैं. इसी तरह देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु के नाम पर 3 योजनायें चल रही हैं. मौलाना अबुल कलाम के नाम पर 3 संस्थान एवं परियोजनाएं और जाकिर हुसैन के नाम पर एक परियोजना चल रही है.

केंद्र सरकार महात्मा गांधी और बाबा साहब भीम राव अंबेडकर के नाम पर देश 4-4 संस्थाएं एवं परियोजनाएं चला रही है. पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर केंद्र की दो योजनाएं चल रही हैं. दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर भी केंद्र सरकार दो योजनाएं चला रही है. जबकि सरदार बल्लभ भाई पटेल, कस्तूरबा गांधी, बाबू जगजीवन राम और अटल बिहारी वाजयेयी के नाम पर एक-एक योजनाएं चल रही है. स्वामी विवेकानंद, रवीन्द्र नाथ टैगोर, लक्ष्मी बाई, राजा राम मोहन राय, खुदा बख्श, महर्षि संदीपनी, सत्यजीत रॉय, संत हरचंद सिंह लोंगोवाल, गनी खान चौधरी और पंडित द्वारका प्रसाद मिश्र के नाम पर भी केंद्र सरकार द्वारा एक एक संस्थान चलाया जा रहा है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in