पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल >बात Print | Share This  

धोनी हटाओ विराट लाओ

धोनी हटाओ विराट लाओ

नई दिल्ली. 18 दिसंबर 2012

महेंद्र सिंह धोनी


एक के बाद एक क्रिकेट मैच में हारने वाले महेंद्र सिंह धोनी को हटाने की मांग ने एक बार फिर से जोर पकड़ लिया है. सुनील गावस्कर पहले से ही धोनी के खिलाफ मोर्चा खोल कर बैठे हुये हैं. अब नागपुर में इंग्लैंड के हाथों टेस्ट सीरीज में हुई हार के बाद देश के दूसरे क्रिकेटर भी मुखर होने लगे हैं. बिशन सिंह बेदी और श्रीकांत से लेकर अतुल वासन तक ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी को कप्तान पद से हटाया जाये.

गौरतलब है कि 28 साल बाद इंग्लैंड ने टेस्ट सीरीज जीत कर भारत को एक ऐसे मोर्चे पर खड़ा कर दिया है, जहां क्रिकेटर और खेल प्रेमी दोनों ही टीम में बदलाव की बात करने लगे हैं. पिछले दो साल में खेले गए 22 टेस्ट में भारत ने महज सात जीते हैं, 10 में टीम को हार मिली है और 5 ड्रॉ रहे हैं. ताजा हार के बाद धोनी को हटाने की बात एक बार फिर जोर से शुरु हुई है. दिलचस्प ये है कि अधिकांश पूर्व क्रिकेटरों ने विराट कोहली को टीम की जिम्मेवारी सौंपने की बात कही है.

इस हार के बाद सुनील गावस्कर ने कहा कि नागपुर टेस्ट के अंतिम दिन तक मुझे लगता था कि महेंद्र सिंह धोनी का कोई विकल्प नहीं है लेकिन इतनी खराब स्थिति में भी शतक जमाने वाले विराट कोहली को देख कर मुझे अपनी राय बदलनी पड़ रही है. मुझे लगता है कि विराट कोहली टीम की जिम्मेवारी लेने के लिये पूरी तरह से तैयार हैं. विराट कोहली ही आने वाले भारतीय टीम के भविष्य हैं और इस बात को सकारात्मक तरीके से देखने की जरुरत है.

बिशन सिंह बेदी ने तल्खी भरे अंदाज में टिप्पणी की है कि अगर टाइगर पटौदी या सुनील गावस्कर ने इतने टेस्ट गंवा दिए होते तो वे इतने लंबे समय तक नहीं टिके रहते. उन्होंने कप्तान बने रहने के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया है. उन्हें वर्ल्ड कप जीत के बाद ही हटा देना चाहिए था. महेंद्र सिंह धोनी को खुद को किस्मत वाला मानना चाहिए कि वह अब भी कप्तान हैं. बेदी की राय है कि विराट कोहली को टीम की जिम्मेवारी सौंपी जानी चाहिये.

भारतीय टीम में किसी जमाने में अपनी शानदार भूमिका निभाने वाले श्रीकांत ने लंबे समय तक भारतीय टीम में चयनकर्ता का भी काम निभाया है. वे भी महेंद्र सिंह धोनी से निराश हैं. श्रीकांत ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी अगर कप्तान नहीं रहेंगे तो ज्यादा बेहतर तरीके से प्रदर्शन कर पायेंगे. श्रीकांत ने यहां तक कहा कि अगर मैं भारतीय टीम का मुख्य चयनकर्ता होता तो धोनी को विकेटकीपर और बैट्समैन के रूप में टीम में चुनता. श्रीकांत का कहना था कि धोनी को यह पता ही नहीं चल रहा है कि वह क्या कर रहे हैं और क्या करना चाहिये. उनकी कप्तानी में अब कोई रस नहीं रह गया है और चीजें उनके हाथ से छूट रही है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in