पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

सीमित परिचालन शुरु कर सकती है किंगफिशर

सीमित परिचालन शुरु कर सकती है किंगफिशर

नई दिल्ली. 18 दिसंबर 2012


किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमोटर विजय माल्या कंपनी को नकदी संकट से उबारने और सीमित परिचालन शुरु करने के लिए 425 करोड़ रुपए निवेश करने की योजना बना रहे हैं. गौरतलब है कि गंभीर वित्तीय संकट से गुज़र रही इस कंपनी की उड़ाने अक्टूबर माह से ही नियमित नहीं है. वैसे परिवाहन नियमित करने के लिए कंपनी को डीजीसीए की अनुमति लेनी होगी. सोमवार को एसबीआइ के नेतृत्व वाले बैंकों के कंसोर्टियम से बैठक के दौरान किंगफिशर के अधिकारियों ने नए निवेश की जानकारी दी.

माना जा रहा है कि किंगफिशर इस नए निवेश के बाद अपना परिचलन कई चरणों में दोबारा शुरु कर सकती है. इस बैठक के बाद एसबीआई के डिप्टी एमडी श्यामल आचार्य ने बताया है कि माल्या ने फिलहाल इस निवेश और परिचालन शुरू करने के लिए कोई समयसीमा तय नहीं की है. उन्होंने ये भी बताया कि किंगफिशर के अधिकारियों से हुई बातचीत के अनुसार कंपनी के पास सीमित परिचालन शुरु करने को लेकर एक योजना है. कुछ उड़ानों के साथ शुरू कर सकते हैं और यह संख्या तीन चार महीने में बढाई जा सकती है.

इस पर किंगफिशर के ओर से आए अधिकारिक बयान में भी कहा गया है हम परिचालन चरणबद्ध तरीके से बहाल करेंगे और इसके लिए धन भी अपने स्तर पर ही उपलब्ध कराएंगे. उल्लेखनीय है कि 2005 में शुरु हुई किंगफिशर एयरलाइंस शुरु से ही घाटे में रही है. कंपनी पर करीब एक अरब चालीस करोड़ डॉलर का कर्ज़ है. कंपनी के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए थे और उसे कर्ज मिलना भी बंद हो गया था.

ऐसे हालातों में कंपनी ने पिछले सप्ताह अपनी कुछ हिस्सेदारी विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) को बेचने की घोषणा भी की थी. जिसके बाद अब कंपनी ने घोषणा कर कहा है कि वह 425 करोड़ रुपए का निवेश कर सीमित परिचालन शुरु करेगी.