पहला पन्ना >राजनीति >बिहार Print | Share This  

बिहार में अंखफोड़वा कांड

बिहार में अंखफोड़वा कांड

अररिया. 25 दिसंबर 2012

अंखफोड़वा कांड


बिहार के अररिया जिले में दो अपराधियों की आंख में तेजाब डालने के मामले पर राज्य सरकार ने जांच के आदेश दिये हैं. इधर पुलिस ने दावा किया है कि इस अंखफोड़वा कांड के जिम्मेवार लोगों के खिलाफ आवश्यक जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

गौरतलब है कि अररिया के रानीगंज थानांतर्गत परमानंदपुर हिंगना गांव में पंचायत उप चुनाव के बाद से तनाव का माहौल था. गांव में दबंग किस्म के मुन्ना ठाकुर और ब्रह्मदेव मंडल के रिश्तेदार भी चुनाव में थे. लेकिन चुनाव में दोनों ही हार गये. मुखिया पद के लिये हुये इस चुनाव में हार के बाद से ही गांव में झड़प का घटनाएं सामने आई थीं. शनिवार को यह झड़प किसी तरह शांत हो गई लेकिन अगले दिन मामला बिगड़ गया.

ग्रामीणों का कहना है कि गांव में तनाव का वातावरण देखते हुये पंचायत बुलाई गई थी. इसी पंचायत में मुन्ना ठाकुर को बुलाने के लिये गांव के कुछ लोग जब उसके घर पहुंचे तो मुन्ना ठाकर और उसके दोस्त कन्हैया ने गांव वालों की पिटाई की और उन पर गोलियां भी चलाईं. ग्रामीणों का कहना है कि मुन्ना ठाकुर की इस हरकत से नाराज पूरा गांव एक हो गया और गांव वालों ने पहले तो मुन्ना ठाकुर और उसके दोस्त कन्हैया की जम कर पिटाई की, इसके बाद उन दोनों की आंख में तेजाब डाल दिया.

पुलिस का कहना है कि मुन्ना ठाकुर और उसके दोस्त कन्हैया के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस ने इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है. दूसरी ओर राज्य सरकार ने इस तरह की घटनाओं पर कड़ाई से नियंत्रण करने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिये हैं.