पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > राज्य > झारखंड Print | Send to Friend | Share This 

पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के घर निगरानी विभाग का छापा

पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के घर निगरानी विभाग का छापा

रांची. 24 जुलाई 2009

 

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के घर शुक्रवार को राज्य के निगरानी विभाग ने छापा मारा. मामला उनके आय से अधिक संपत्ति रखने का है. इसी मामले में राज्य के तीन पूर्व मंत्रियों कमलेश सिंह, भानुप्रताप साही और बंधु टिर्की के घर भी छापेमारी की कार्यवाही की गई है. गौरतलब है कि इस संदर्भ में हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी. इस याचिका में मधु कोड़ा सहित उनके मंत्रिमंडल के सात अन्य मंत्रियों पर आय से ज्यादा संपत्ति रखने के आरोप लगे थे.

मधु कोड़ा मुख्यमंत्री बनने के बाद करोड़पति बने थे. वर्ष 2005 में मधु कोड़ा की कुल संपत्ति 24,17,615 रुपये की थी. घोषित रुप से उनके पास एक करोड़ 28 लाख 36 हजार 957 रुपये  की संपत्ति हो गयी है. यानी पिछले चार साल में उनकी संपत्ति पांच गुना बढ़ी है. फिलहाल मधु कोड़ा के नाम 53 लाख 29 हजार 173 रुपये, पत्नी के पास 54 लाख 53 हजार 892 रुपये और उनकी एक साल की बेटी के पास 20 लाख 93 हजार 635 रुपये की संपत्ति है. मधु कोड़ा की पत्नी के पास 13.99 लाख रुपये के हीरे के जेवर और बेटी के पास 10.28 लाख रुपये के हीरे के जेवर हैं.

लेकिन जब इस घोषित संपत्ति से इतर कोड़ा के खिलाफ करोड़ों रुपये की बेनामी संपत्ति को लेकर हाईकोर्ट में जब याचिका दायर की गई तो हाईकोर्ट ने भी मामले की गंभीरता समझते हुए इसे स्वीकार कर लिया. बाद में झारखंड सरकार की निगरानी ब्यूरो ने पूर्व मुख्यमंत्री पर लगे आय से अधिक संपत्ति की जांच सीबीआई से कराये जाने की बात कही थी. निगरानी ब्यूरो के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा और उनके सहयोगी विनोद सिन्हा व संजय चौधरी की कई कम्पनियां और बेनामी संपत्ति दुबई व सिंगापुर में है. पिछले साल ही पूर्व मुख्यमंत्री का एक सहयोगी करोड़ो रुपये का हवाला करते हुए पकड़ा गया था.

पिछली सरकार में कम से कम दो मंत्री ऐसे थे, जिन्होंने रिश्वत के पैसे गिनने के लिए घरों में नोट गिनने की मशीनें लगा रखी थीं. राज्य में ऐसे पूर्व मंत्रियों की संख्या दर्जनों में है, जिन्होंने राज्य बनने के बाद करोड़ों कमाए, जिनके खिलाफ बेहिसाब संपत्ति के कई मामले न्यायालयों में मामले चल रहे हैं. पूर्व मुख्यमंत्री रहे मधुकोड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, पूर्व मंत्री हरि नारायण राय, पूर्व शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप साही,  पूर्व मंत्री कमलेश सिंह, मंत्री एनोस एक्का पर आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला दर्ज हुआ है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in