पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

हास्य के नाम पर अश्ललीलता बर्दाश्त नहीं

हास्य के नाम पर अश्ललीलता बर्दाश्त नहीं

मुंबई. 29 दिसंबर 2012


टेलीविज़न प्रोग्रामों में हास्य के नाम पर परोसी जा रही अश्लीलता पर संज्ञान लेते हुए प्रसारण सामग्री शिकायत परिषद (बीसीसीसी) ने इंडियन बॉडकास्टिंग फाउंडेशन (आईबीएफ) को निर्देश दिए हैं कि वह चैनलों में प्रसारित किए जा रही सामग्री पर कड़ी नज़र रखे. परिषद ने मनोरंजन चैनलों से कहा है कि वह कॉमेडी शो के नाम पर पेश किए जा रहे गाली-गलौच, भद्दे, भौंडे और द्विअर्थी संवादों को मादक अंदाज में पेश करने से परहेज करें.

परिषद ने जानकारी दी है कि उसे विभिन्न चैनलों पर प्रसारित कॉमेडी धारावाहिकों मे हास्य के नाम पर द्विआर्थी संवादों के इस्तेमाल होने की शिकायतें लगातार मिल रही हैं. परिषद की ओर से जारी बयान में चेयरपर्सन ए पी शाह ने कहा है कि स्वस्थ हास्य और अश्लीलता के बीच एक स्पष्ट विभाजक रेखा होनी चाहिए. लेकिन कई बार शो के प्रतिभागी हास्य के नाम पर स्वीकार्य सीमाओं को पीछे छोड़ देते हैं और द्विआर्थी संवादों का इस्तेमाल करने लगते हैं.

परिषद ने कहा है कि ऐसे हास्य शो बनाने वालों को भारतीय दर्शकों की भावनाओं और सामाजिक मूल्यों को ध्यान में रखना चाहिए. परिषद ने चैनलों को सलाह देते हुए कहा है कि वे समुदाय, धर्म, कार्यक्षेत्र और हस्तियों के बारे में उपहास करने के बजाय संवादों की संवेदनशीलता पर ध्यान दें और यह सुनिश्चित करें कि उनके द्वारा दिखाई जा रही सामग्री सबका स्वस्थ मनोरंजन करे.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in