पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >मुद्दा >दिल्ली Print | Share This  

हनी सिंह के पोर्न गीत का विरोध

हनी सिंह के पोर्न गीत का विरोध

नई दिल्ली. 31 दिसंबर 2012

हनी सिंह


इस साल यूट्यूब में सर्वाधिक प्रचलित 10 वीडियो में जगह बनाने वाले गायक हनी सिंह के एक अत्यंत अश्लील गीत को लेकर विवाद शुरु हो गया है. आरोप है कि हनी सिंह के इस गीत से गैंगरेप को बढ़ावा मिलेगा. हनी सिंह के इस अत्यंत घटिया और अश्लील गीत को लेकर देश के कई पत्रकारों-लेखकों ने भी विरोध दर्ज किया है. हनी सिंह ने 'कॉकटेल' और 'खिलाड़ी 786' फिल्म में भी गीत गाये हैं. अब उनके ताजा गीत को लेकर हाल ये है कि 31 दिसंबर को दिल्ली के पास आयोजित उनके कार्यक्रम को लेकर महिला संगठन विरोध में आ गये हैं.

लेखक कल्पना मिश्र ने एक ऑनलाइन याचिका के ज़रिए आयोजक को चिट्ठी लिखकर हनी सिंह के कंसर्ट को रद्द करने का अनुरोध किया है. कल्पना को वीर संघवी और बरखा दत्त जैसे वरिष्ठ पत्रकारों ने भी समर्थन किया है.

कल्पना ने अपने पत्र में कहा है कि लगातार बढ़ रहे बलात्कार के मामलों और बीते दिनों एक युवा लड़की की मौत को लेकर पूरे देश में गुस्सा है. हम जानते हैं कि बलात्कार इसलिए होते हैं क्योंकि हमारे देश में कुछ मर्दों को ये स्वीकार्य है जिसका सबूत ये गीत है जो हनी सिंह द्वारा लिखा गया है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि महिलाओं के प्रति विकृत मानसिकता को दिखाते ऐसे गीत ही पुरुषों में ये सोच बैठाते हैं कि पिछले दिनों लड़की के साथ जो बस में किया गया वो सही था.

इस गाने का विरोध करने के लिये साइन करें.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

pradeep soni [pradeepsoni1008@gmail.com] bilaspur - 2013-12-13 17:20:38

 
  हनी यह शर्मनाक है .... यह गीत हटना चाहिए. हनी देश से माफ़ी मांगो | हम इसका विरोध करते हैं | 
   
 

YOGESHWAR [shama.yogi@gmail.com] BILASPUR - 2013-01-01 17:18:20

 
  एक सडी मछली पूरे तालाब को गंदा कर देती है। समय रहते इस गंदी मछली को निकाल बाहर करना चाहिए।  
   
 

om bhatt [] uttrakhabd - 2012-12-31 18:57:03

 
  इस तरह का गाना ही बलात्कार की श्रेणी में आता है. जो अश्लीलता की उपजाऊ भूमि तैयार करता है. बस पानी डालने की कसर रहती है. 
   
 

shashank pandey [] Azamgarh - 2012-12-31 17:52:19

 
  इनके जैसे लोग ही जिम्मेदार हैं ऐसी घटनाओं के लिये. सारा देश जहां गम में डूबा हुआ है, इनके जैसे विकृत मानसिकता के लोगों को जश्न मनाने की पड़ी है. अगर इनके साथ या इनकी बहनों के साथ यही घटना होती तो भी क्या ऐसा ही करते? यह शर्मनाक है. 
   
 

Ashish Kumar ''Anshu'' [ashishkumaranshu@gmail.com] New Delhi - 2012-12-31 14:54:24

 
  हनी सिंह के गीत का विरोध करते हैं. साथ-साथ डीके बोस ,चुड़ैल बनाने वाले आमिर और मिस कॉल से लौंडिया पटाने वाले सलमान जैसे सफेदपोशो का भी विरोध होना चाहिए . 
   
 

deepakkumar [kumardeepaksai@yahoo.in] deoghar - 2012-12-31 14:54:12

 
  आज देश में अश्लीलता फैलाने के लिये बालीवुड सबसे अधिक जिम्मेवार है और हनी सिंह जैसे लोग उसी का हिस्सा हैं. ऐसे लोगों के कारण ही हमारे युवा गुमराह हो रहे हैं. 
   
 

satish jayaswal [satishbilaspur@gmail.com] bilaspur (c.g). - 2012-12-31 14:08:09

 
  हनी सिंह का वह विवादित पोर्न गीत मैंने नहीं सुना है। लेकिन मैं किसी भी तरह की अश्लीलता के विरोध में हूँ . यह अश्लीलता के विरुद्ध एक आवाज़ है, इसलिए मैं इस आवाज़ के साथ मिल कर उस अश्लीलता का विरोध करता हूँ।
क्या हम ने ध्यान दिया कि 16 दिसंबर की उस अभिशप्त तारीख से लेकर आज तक कोई दिन ऐसा नहीं गया जिस दिन हम ने कहीं ना कहीं, किसी ना किसी बलात्कार की खबर नहीं पढी ?
अश्लीलता जब बर्बर होती है तो बलात्कार घटित होता है।
अश्लीलता विचार से लेकर क्रियात्मकता तक बर्बर होती है। इसलिए अश्लीलता बलात्कार ही होती है। उसका विरोध होना ही चाहिए।
 
   
 

Aanad [] दिल्ली - 2012-12-31 14:06:17

 
  यौन हिंसा के अभियुक्तों से ज्यादा बड़ा अपराधी तो ये आदमी है जो ना केवल बलात्कारी होने पर गर्व करता है, बल्कि उससे भी ज्यादा जबरन यौनाचार के वक्त अमानवीय होने तक हिंसक होने को भी मर्दाना करार देता है। दरअसल इसपर ना केवल रोक बल्कि देश द्रोह, समाज द्रोह का मुकदमा चला कर फांसी देनी चाहिए। क्योंकि अपराधी तो एक अपराध करते हैं. ये आदमी दरिंदगी भरे हजारों यौन अपराधी पैदा करता है। इसकी सजा अपराधी से ज्यादा बड़ी होनी चाहिए।  
   
 

KUMAR GAURAV [] JHARKHAND - 2012-12-31 13:42:52

 
  हनी सिंह के पोर्न गीत का विरोध होना ही चाहिए, इस तरह की अश्लील गीत गाने के कारण उन पर कारवाई होनी चाहिए. 
   
 

lakhan singh [bhagatsingh788@gmail.com] bilaspur - 2012-12-31 13:18:42

 
  कुछ लोग हमेशा समाज में ऐसे समाज में होते हैं जो महिलाओं की हर चिन्ह को बेचना चाहते हैं, इनकी निंदा ही नहीं बल्कि सक्रीय विरोध करना चाहिए, इनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी होनी चाहिए, ये महिलाओं का बहुत बड़ा अपमान है और पुरुषों का भी उतना ही बड़ा अपमान है, क्योंकि ऐसे लोग पुरुष भी तो हैं.  
   
 

suren [surensinghsuren@gmail.com] bareilly - 2012-12-31 13:08:54

 
  अभी इस गीत के बोल देखे. काफी घटिया किस्म का लिखा गया गीत है, जिस पर सरकार को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिये. अगर ये गीत कहीं बजाया जा रहा है, तो ये बात समझ से परे है कि जिन्होंने भी इस गीत को सुना, वो अपना विरोध क्यों नहीं दर्ज करवा रहे. एक तो हमारे समाज में वैसे भी नागरिक बोध की कमी है, उसमें इस तरह के गीतों का प्रसारण चकित करने वाला और दुखद है. इस पर हर स्तर पर विरोध होना चाहिये, चाहे वह इसका गायक हो, गीतकार हो, संगीतकार हो, प्रोडक्शन हाउस हो. 
   
 

pradeep soni [pradeepsoni1008@gmail.com] bilaspur - 2012-12-31 13:05:38

 
  इस तरह के गाने बाजार में आने ही नहीं चाहिये और ना ही ऐसे गाने गाने वाले गायक को किसी मंच पर स्थान मिलना चाहिये, जो फूहड़ गाने गाता हो. अब समय विरोध करने का आ गया है. हम सबको ऐसे घटिया गायक का पूरजोर विरोध करना चाहिये. 
   
 

आदित्य तिवारी [adityatiwari66@gmail.com] बिलासपुर - 2012-12-31 13:05:13

 
  ऐसे लोगों ने समाज की सोच को विकृत कर रखा है, जितने गुनेह्गार वो मुजरिम हैं उतने ही उनको प्रेरित करने वाले ये असामाजिक तत्त्व भी और ये भी सजा के पात्र है.  
   
 

Shubhranshu Choudhary [shu@cgnet.in] - 2012-12-31 12:58:39

 
  हनी सिंह के पोर्न गीत का हम विरोध करते हैं. 
   
 

Rohit pathak [pathakrohit9@gmail.com] Delhi - 2012-12-31 12:54:35

 
  इस प्रकार के लोगों को बढ़ावा देने का मतलब है अपनी संस्कृति के साथ खिलवाड़ करना. सरकार को ये बात समझनी चाहिए कि आखिर जनता का सामने इन गानों के रूप में क्या परोसा जा रहा है. माना जनता उसे पसंद करती है मगर हमारे देश में आज इसकी उपयोगिता नहीं है. 
   
 

रामजी यादव [yadav.ramji2@gmail.com] मुंबई - 2012-12-31 12:52:10

 
  इस पर रोक तो लगनी ही चाहिए. खासतौर से आइटम सॉंग पर भी क्योंकि स्त्री को आइटम कहनेवाला कोई भी संस्कृतिकर्म बंद होना चाहिए. यह स्त्री की गरिमा के विरुद्ध है.  
   
 

Rajan Agrawal [rajan.journalist@gmail.com] delhi - 2012-12-31 12:50:10

 
  शर्मनाक है इस तरह के गीत और गानेवाले... 
   
 

Abdullah jan [] Delhi - 2012-12-31 12:48:52

 
  इस तरह के गाने और गायक दोनों पर प्रतिबंध लगना चाहिये. 
   
 

sony kishor singh [] mumbai - 2012-12-31 12:48:44

 
  हनी सिंह के तमाम कार्यक्रमों का सार्वजनिक रुप से बहिष्कार होना चाहिए और उन लोगों का भी सामाजिक बहिष्कार करें जो ऐसे अश्लील गायकों को प्रमोट करते हैं। 
   
 

krishnakant [] delhi - 2012-12-31 12:46:43

 
  हनी सिंह के गाने पूरी तरह महिला विरोधी हैं। वह भाषाई तौर पर महिला अस्मिता के हनन का दोषी है। मैं अपना विरोध दर्ज कराता हूं। इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए।  
   
 

swatantra mishra [15.swatantra@gmail.com] delhi - 2012-12-31 12:46:24

 
  हनी सिंह ने ऐसे कई गाने गाये हैं, जो अश्लीलता को बढ़ावा देते हैं. 
   
 

Mahatb Alam [activist.journalist@gmail.com] Delhi - 2012-12-31 12:44:33

 
  A criminal case must be registered against Honey Singh 
   
 

Prashant [prashantd1977@gmail.com] bhopal - 2012-12-31 12:38:34

 
  हनी सिंह यह शर्मनाक है .... यह गीत हटना चाहिए. हनी सिंह पूरे देश से माफ़ी मांगो | हम सब इसका विरोध करते हैं |  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in