पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

नकद सब्सिडी हस्तांतरण योजना लागू

नकद सब्सिडी हस्तांतरण योजना लागू

नई दिल्ली. 1 जनवरी 2013

direct cash transfer


नए साल के आगाज़ के साथ ही केंद्र की महत्वकांक्षी नकद सब्सिडी हस्तांतरण योजना देश के 20 जिलों में लागू हो गई है. इस योजना के तहत केंद्र सरकार लाभार्थियों को विभिन्न योजनाओं के तहत सब्सिडी का भुगतान सीधे उनके बैंक खाते में नकद राशि जमा कर करेगी. लाभार्थियों को भुगतान उनके आधार कार्ड के जरिए किया जाएगा, लेकिन जिनके पास आधार नंबर से जुड़ा बैंक खाता नहीं होगा वहां सब्सिडी सीधे उनके खाते में जमा कर दी जायेगी.

इससे पहले केंद्र सरकार ने यह योजना 51 जिलों में शुरु करने की योजना बनाई थी लेकिन अब इसे 20 जिलों से इसकी शुरुआत किए जाने का फैसला लिया गया है. पहले चरण में इस योजना से लगभग 2 लाख लोग लाभान्वित होंगे.

केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने सोमवार को इस बाबत जानकारी देते हुए कहा था कि अभी इस स्कीम के तहत 7 योजनाओं का ही लाभ दिया जाएगा लेकिन धीरे-धीरे पूरे साल भर में इसमें कुल 26 योजनाओं को शमिल किया जायेगा. वित्तमंत्री श्री चिदंबरम ने कहा कि एक जनवरी को देश के 20 चुनिंदा जिलों में इसकी शुरुआत होगी, जिसके बाद शेष बचे 23 जिलों में से 11 जिलों में इसे एक फरवरी से और बाकी 12 जिलों में एक मार्च, 2013 से लागू किया जाएगा.

वित्त मंत्री ने यह भी बताया कि फिलहाल खाद्यान्न, उर्वरक, डीजल और मिट्टी तेल पर दी जाने वाली सब्सिडी को सीधे अंतरण योजना में शामिल नहीं किया गया है. इनमें मौजूदा व्यवस्था ही अभी जारी रहेगी क्योंकि इनके साथ जटिल मुद्दे जुड़े हैं. उल्लेखनीय है कि इससे पहले सरकार ने इस योजना का नाम डायरेक्ट कैश ट्रांसफर यानी सीधा नकद हस्तांतरण रखा था लेकिन राजनीतिक विरोध के चलते इस स्कीम के नाम से नकदी शब्द हटाकर इसे प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण [डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर-डीबीटी] नाम दिया है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

sanjay [sun.j938@yahoo.com] delhi - 2013-01-01 11:20:37

 
  अंधा बांटे रेवड़ी अपने अपने को दे. चुनाव आ गया है कुछ भी हो सकता है. 
   
 

sumona [grpe1260@gmail.com] delhi - 2013-01-01 07:02:06

 
  is it 100% ok or the whole amount to be distributed the all government employees they are involve in the concern 
   
 

b.r. kashyap [] new delhi. - 2013-01-01 06:50:44

 
  In my opinion govt. of India, starts such type of scheme and the people of these location/district become handicapped. In my opinion govt. generate employment opportunities. 
   
 

vishwambhar [vishwambhar_saini@yahoo.com] mumbai - 2013-01-01 05:43:14

 
  बहुत बढ़िया है सरकार की यह योजना, गरीब को पैसे मिलेंगे और कोई चोर बीच में नहीं खाएगा. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in