पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

सोनिया ने किया वायु सेना का दुरुपयोग?

सोनिया ने किया वायु सेना का दुरुपयोग?

नई दिल्ली. 5 जनवरी 2013 बीबीसी

सोनिया गांधी


कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले सात साल में 49 बार भारतीय वायुसेना के विमानों और हेलिकॉप्टरों से यात्रा की. इन हवाई यात्राओं में वो 23 बार प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ थी. वहीं इन उड़ानों में एक बिल अभी बकाया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक ये जानकारी सूचना का अधिकार के तहत हरियाणा के एक आरटीआई कार्यकर्ता के पूछे गए सवालों के बाद प्राप्त हुई है.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी ने भी पिछले तीन साल में सात बार भारतीय वायुसेना की सेवाओं का इस्तेमाल किया.

सोनिया गांधी और राहुल गांधी के पास भारतीय वायुसेना के विमानों का इस्तेमाल करने का हक नहीं है. इसलिए उन्हें ऐसे लोगों के साथ यात्रा करनी पड़ी है जिनके पास आधिकारिक यात्रा के लिए ये हक है जैसे कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री. दूसरे कैबिनेट मंत्री प्रधानमंत्री से अनुमति लेकर ऐसा कर सकते हैं. सिर्फ प्रधानमंत्री गैर-आधिकारिक कारणों के लिए भी वायुसेना की सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं.

भारतीय वायु सेना के नियमों के अनुसार जिन लोगों को वो यात्रा सेवा दे सकती है उन लोगों के पास दूसरे लोगों को अपने साथ साथ यात्रा करवाने की छूट होती है. आरटीआई की जानकारी ये भी पता चला है कि सोनिया के 49 दौरों में 42 बार कोई खर्च या बिल नहीं आया क्योंकि उनमें वो योग्य लोगों के साथ यात्रा कर रही थीं.

छह बार यात्राओं का बिल बना जिसका संबंधित विभाग ने मूल्य चुका दिया. लेकिन कर्नाटक सरकार पर 1.17 करोड़ रुपए का एक बिल अभी बकाया है. वहीं राहुल गांधी के उड़ानों मे भी एक बिल अभी देय है जिसकी राशि 8.26 लाख रूपए है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in