पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

भारत-पाक सीमा पर मुठभेड़

भारत-पाक सीमा पर मुठभेड़

कश्मीर. 6 जनवरी 2013 बीबीसी

भारत-पाक सीमा


भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच विवादग्रस्त कश्मीर क्षेत्र में नियंत्रण रेखा के निकट मुठभेड़ होने की खबर है. पाकिस्तान ने कहा है कि भारतीय फौज ने पाक प्रशासित कश्मीर के हाज़ी पीर सेक्टर में एक सैन्य चौकी पर हमला किया.

उन्होंने बताया कि इस हमले में एक सिपाही मारा गया और एक घायल हो गया. भारतीय सेना के एक प्रवक्ता ने इस पर कहा कि 'संघर्षविराम के उल्लंघन' पर जवाबी कार्रवाई की गई थी लेकिन नियंत्रण रेखा पार नहीं की गई. कश्मीर के पूरे भूभाग पर भारत और पाकिस्तान दोनो ही दावा करते हैं और 60 साल से अधिक समय से इस मुद्दे पर दोनो देशों के बीच संघर्ष की स्थिति बनी हुई है.

इस तरह के मुठभेड़ होते रहते हैं पर कम ही मौकों पर कई हताहत होता है. पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा है कि भारतीय फौजों ने सावन पटरा नाम की एक चौकी पर धावा बोल दिया. हाजी पीर दर्रा पाक प्रशासित कश्मीर के मुजफ्फराबाद से भारत प्रशासित कश्मीर की और जाने वाली मुख्य सड़क के दक्षिण में है.

पाकिस्तान पक्ष के बयान में कहा गया है, "पाकिस्तान पक्ष ने प्रभावी तरीके से जवाबी कार्रवाई की. वापस लौटते समय भारतीय सैनिक अपने हथियार छोड़ गए".

उन्होंने बताया कि हमले में एक पाकिस्तानी सिपाही मारा गया और एक सिपाही घायल हो गया. भारतीय सेना के प्रवक्ता कर्नल जगदीश दाहिया ने समाचार एजेंसी रायटर्स को बताया कि पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था और इस पर जवाबी कार्रवाई की गई.

उन्होंने कहा,"कोई भी नियत्रंण रेखा के उस पार नहीं गया. हमारी तरफ से न तो कोई मारा गया और न ही घायल हुआ है." सेना के एक अन्य प्रवक्ता कर्नल ब्रजेश पांडेय ने समाचार एजेंसी एशोसिएटेड प्रेस को बताया कि पाकिस्तान सेना ने मोर्टार और स्वचालित हथियारों से 'बिना किसी उकसावे' के भारतीय चौकियों पर गोलीबारी शुरू कर दी.

उन्होंने कहा कि इस पाकिस्तानी पक्ष के हमले में एक नागरिक का घर क्षतिग्रस्त हो गया. कर्नल पांडेय ने कहा,"हमने केवल छोटे हथियारों से जवाबी कार्रवाई की. हमारा मानना है कि घुसपैठियों को मौका देने के इरादे से उनकी तरफ से यह प्रयास किया गया था".

वर्ष 2003 से ही कश्मीर में संघर्ष विराम लागू है. मुंबई में वर्ष 2008 में हुए हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के साथ शांति वार्ता स्थगित कर दी थी. पिछले साल फरवरी में बातचीत दोबारा शुरू हुई है. पिछले महीने दोनो देशों ने कुछ नागरिकों की आवाजाही पर वीज़ा पाबंदियों में राहत देने देने के लिए समझौते पर दस्तखत किए थे.