पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

पाक को उचित जवाब देगा भारत

पाक को उचित जवाब देगा भारत

नई दिल्ली. 9 जनवरी 2013 बीबीसी

सलमान खुर्शीद


भारत-पाकिस्तान सीमा पर दो भारतीय जवानों के मारे जाने के बाद भारत के रक्षा मंत्री व विदेश मंत्री ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा है कि कश्मीर में हुई बर्बर हत्याओं का भारत 'उचित जवाब' देगा. उधर रक्षा मंत्री एके एंटनी ने पाकिस्तान की हरकत को अमानवीय करार दिया है.

भारतीय अधिकारियों का क्लिक करें आरोप है कि पाकिस्तान के सैनिकों ने मंगलवार को कश्मीर में दाख़िल होकर गोलीबारी की जिसमें भारत के दो सैनिक मारे गए हैं. ठीक दो दिन पहले पाकिस्तान की सेना ने भी भारत के ख़िलाफ़ ऐसे ही आरोप लगाए थे जिसमें उसने कहा था कि भारतीय सैनिकों ने उसके एक सैनिक को मार गिराया जबकि एक सैनिक को घायल किया गया है.

जहां भारतीय सेना ने एक वक्तव्य में कहा है कि पाकिस्तान ने भारतीय सैनिकों को मार कर उसे भड़काने का काम किया है, वहीं पाकिस्तान की सेना का कहना है कि ये पाकिस्तानी सैनिकों की मौत की घटना से ध्यान बंटाने की भारतीय चाल है. सेना के एक प्रवक्ता राजेश कालिया ने समाचार एजेंसी एएफपी से बातचीत में बताया कि दो सैनिकों में से एक का शरीर बुरी तरह से क्षत-विक्षत पाया गया.

विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा, "ये हरकत अस्वीकार्य, अमानवीय और अदूरदर्शी है. हमें इसका जवाब देना होगा और हम देंगे भी, लेकिन हमें सभी तथ्यों को ध्यान में रखना होगा. ये घटना दोनों देशों के बीच शांति वार्ता को रोकने की मंशा से की गई है. हमें ऐसे रास्ते खोजने होंगें जिससे शांति वार्ता पर बुरा असर न हो."

उधर मुख्य विपक्षी दल भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि पाकिस्तान से दोस्ती बढ़ाने के बजाय उसे वैश्विक स्तर पर शर्मिंदा किया जाना चाहिए. उनका कहना था, "भारत बड़े उत्साह के साथ बातचीत का दौर आगे बढ़ा रहा था. लेकिन इस चेतावनी के बाद भारत को पाकिस्तान के समक्ष एक लाल रेखा खींचनी होगी. अब पाकिस्तान पर आंख बंद कर भरोसा करना एक भूल होगी." मारे गए सैनिकों का नाम लांस नायक हेमराज सिंह व लांस नायर सुधाकर सिंह है.

भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में साल 2008 के मुंबई हमलों के बाद कड़वाहट बढ़ी थी, जिसका बुरा असर शांति वार्ता पर भी पड़ा था. वर्ष 2003 के बाद नियंत्रण रेखा पर कमोबेश शांति रही है. लेकिन नवंबर 2008 में मुंबई में हुए चरमपंथी हमले के बाद भारत ने शांति वार्ता बंद कर दी थी. साल 2012 के फ़रवरी में दोनों देशों के बीच एक बार फिर बातचीत शुरू हुई थी.

पिछले महीने यानि कि दिसंबर 2012 में दोनों देशों के बीच हुए समझौते के तहत कुछ ख़ास क़िस्म के नागरिकों के लिए वीज़ा के नियमों में काफ़ी ढील दी गई थी. भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा पर इस तरह की गोलीबारी कोई नई बात नहीं है. लेकिन सैन्य घुसपैठ की बात आमतौर पर सामने नहीं आती. कश्मीर के कुछ हिस्सों पर भारत और पाकिस्तान दोनों ही दावा करते हैं और इसी वजह से दोनों के बीच तनाव बना रहता है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in