पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

रेल किराए में बढ़ोत्तरी की घोषणा

रेल किराए में बढ़ोत्तरी की घोषणा

नई दिल्ली. 9 जनवरी 2013

indian rail


केंद्रीय रेल मंत्री पवन बंसल ने सभी श्रेणियों के यात्री रेल किरायों में बढ़ोत्तरी की घोषणा करते हुए बताया कि यह फैसला रेलवे के बढ़ते हुए खर्चों को देखते हुए लिया गया है. संवाददाताओं से बातचीत करते हुए रेलमंत्री ने कहा कि पिछले कई सालों से लगातार घाटा झेलने के बावजूद रेल किराया जस का तस था, लेकिन अब चूंकि रेलवे के खर्चे काफी बढ़ गए हैं ये निर्णय लेना जरूरी हो गया था. उन्होंने यह विश्वास भी दिलाया कि आगामी रेल बजट में किराया और नहीं बढाया जाएगा.

श्री बंसल ने बताया कि रेल किरायों में बढ़ोत्तरी का यह फैसला 21 जनवरी की मध्यरात्रि से लागू हो जाएगा. अनुमान लगाए जा रहे हैं कि इस बढ़ोत्तरी से रेलवे को लगभग 6600 करोड़ रुपए का अधिक राजस्व प्राप्त हो सकेगा. श्री बंसल ने कहा कि उन्हें लगता है कि यदि यात्रियों को बेहतर सुरक्षा और सुख-सुविधाएं दी जाती हैं तो वे इसके लिए अधिक पैसे खर्च करने के लिए तैयार होंगे.

उल्लेखनीय है कि पवन बंसल ने रेलमंत्री बने ही स्पष्ट किया था कि यात्री रेल किरायों में बढ़ोत्तरी की जरूरत है और इसके बारे में फैसला जल्द ही लिया जा सकता है. इससे पहले उन्होंने यह भी कहा था कि मैं पिछले दो महीनों से जहां जाता हूं वहां लोग कहते हैं कि हमें बेहतर सुविधाएं मिले तो हम बढ़ा किराया भी देने को तैयार हैं.

यात्री रेल किराये में इस प्रकार वृद्धि की गई है -

द्वितीय सधारण श्रेणी शहरी क्षेत्र - 2 पैसा प्रति किलोमीटर
द्वितीय सधारण श्रेणी ग्रामीण क्षेत्र - 3 पैसा प्रति किलोमीटर
द्वितीय श्रेणी मेल एक्सप्रेस ट्रेन- 4 पैसा प्रति किलोमीटर
स्लीपर क्लास- 6 पैसा प्रति किलोमीटर
एसी कुर्सीयान- 10 पैसा प्रति किलोमीटर
एसी 3 टियर- 10 पैसा प्रति किलोमीटर
एसी 2 टियर- 6 पैसा प्रति किलोमीटर बढ़ा
एसी प्रथम श्रेणी- 3 पैसा प्रति किलोमीटर बढ़ा


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in