पहला पन्ना >राज्य >हरियाणा Print | Share This  

शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार चौटाला

शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार चौटाला

नई दिल्ली. 16 जनवरी 2013

om prakash chautala


तीन हज़ार से अधिक शिक्षकों की अवैध भर्ती के एक मामले की सुनवाई करते हुए सीबीआई की एक विशेष अदालत ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला, उनके पुत्र अजय चौटाला और 53 अन्य लोगों को दोषी करार दिया है. सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा यह फैसला सुनाने के बाद ओमप्रकाश चौटाला समेत सभी अन्य आरोपियों को न्यायिक हिरासत में ले लिया गया है.

उल्लेखनीय है कि 1999-2000 के दौरान हरियाणा सरकार द्वारा 3206 जूनियर बेसिक ट्रेंड (जेबीटी) शिक्षकों की भर्ती की गई थी. इस भर्ती के बाद हरियाणा राज्य शिक्षा विभाग में बेसिक शिक्षा के डायरेक्टर संजीव कुमार ने इन भर्तियों में घोटाले के आरोप लगाए थे. इस मामले में राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के उपर ये आरोप लगे थे कि उन्होंने रिश्वत लेकर भर्ती की लिस्ट बदलवा कर अपने मनचाहे अभ्यार्थियों की भर्ती करवाई थी.

चौटाला समेत शिक्षा विभाग के आला अफसरों पर आरोप लगे कि उन्होंने इस घोटाले के लिए शिक्षकों की भर्ती की जिम्मेदारी कर्मचारी चयन आयोग से लेकर जिला स्तर पर बनाई गई चयन कमेटी को सौंपी जिसने फर्जी साक्षात्कार के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों की सूची तैयार की थी.

बाद में ये मामला उच्चतम न्यायालय तक गया जिसके बाद इसकी जाँच सीबीआई को सौंप दी गई थी. इस केस के कुल 148 सरकारी गवाह में से 67 की गवाही अदालत में हुई और यह साबित हुआ कि जेबीटी भर्ती में नौकरी पाने वाले हर शख्स से 3 से 5 लाख रुपए की रिश्वत ली गई थी. सुनवाई के दौरान चौटाला पर लगे आरोप भी सिद्ध हो गए थे.

बुधवार की गिरफ्तारी में राज्य के दो आला आईएएस अफसर भी शामिल हैं, जिसमें इस मामलो को प्रकाश में लाने वाले राज्य बेसिक शिक्षा विभाग के तत्कालीन डायरेक्टर संजीव कुमार भी शामिल हैं. माना जा रहा है कि इन आरोपियों की 22 जनवरी को सज़ा सुनाई जा सकती है.