पहला पन्ना >व्यापार >दिल्ली Print | Share This  

ड्रीमलाइनर की उड़ान बंद

ड्रीमलाइनर की उड़ान बंद

नई दिल्ली. 17 जनवरी 2013

बोइंग 787 ड्रीमलाइनर


दुनिया भर में प्रतिबंध के बीच बोइंग 787 ड्रीमलाइनर के विमान फिलहाल भारतीय आकाश पर भी नहीं उड़ेंगे. दुनिया भर के 49 बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमान में से 5 भारत के पास हैं. सर्वाधिक 17 विमान जापान की ऑल निप्पॉन एयरवेज़ के पास हैं, जिसने इसी सप्ताह से इस विमान की सेवायें बंद कर दी हैं. अमरीका में फ़ेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने अमरीकी विमान कंपनियों को बोइंग 787 ड्रीमलाइनर की उड़ानें कुछ समय के लिए बंद करने के लिए पहले ही आदेश जारी कर दिये हैं. दुनिया के दूसरे देश भी इस बारे में जल्दी ही फैसला ले सकते हैं.

गौरतलब है कि बोइंग 787 ड्रीमलाइनर की बैटरी में परेशानी आने के बाद बुधवार को जापान में ऑल निप्पॉन एयरवेज़ की उड़ान संख्या एनएच 692 को उड़ान के तुरंत बाद ही आपात स्थिति में उतारना पड़ा था.

असल में जब जापान के यामागुची उबे से उड़ा और तो पायलट को कंप्यूटर स्क्रीन पर चेतावनी मिली कि बैटरी में गड़बड़ी के कारण विमान के एक हिस्से में धुआं उठ रहा है. इसके बाद विमान के पायलट ने बिना वक्त गंवाये विमान को ताकामात्सु हवाई अड्डे पर उतार लिया. इस घटना के बाद एयरवेज़ ने अपने सभी 17 ड्रीमलाइनरों की उड़ानों पर फिलहाल प्रतिबंध लगा दिया है.

इधर भारत में बोइंग 787 ड्रीमलाइनर की सभी 5 उड़ानें फिलहाल बंद रहेंगी. भारत सरकार के उड्डयन मंत्रालय से संबद्ध अधिकारियों का कहना है कि ड्रीमलाइनर के संपर्क में हैं और फिलहाल कंपनी का कहना है कि आम तौर पर बोइंग 787 ड्रीमलाइनर में कोई खास परेशानी नहीं है. लेकिन भारत चाहता है कि पहले कंपनी इस मामले को लेकर आश्वस्त हो जाये. उसके बाद ही बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमान की उड़ान पर विचार किया जा सकता है.