पहला पन्ना >मुद्दा > Print | Share This  

दिल्ली गैंगरेप: पाँच के खिलाफ आरोप तय

दिल्ली गैंगरेप: पाँच के खिलाफ आरोप तय

नई दिल्ली. 2 फरवरी 2013


दिल्ली में चलती बस में पैरामेडिकल छात्रा से हुए सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में पाँच आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की 13 अलग-अलग धाराओं के अंतर्गत आरोप तय कर दिए गए हैं. दिल्ली पुलिस ने अपने आरोप-पत्र में इन आरोपियों पर हत्या, सामूहिक बलात्कार, हत्या की कोशिश, अपहरण, अप्राकृतिक अपराध, डकैती, डकैती के दौरान हिंसा, सबूत मिटाने और आपराधिक षड्यंत्र जैसी धाराएं लगाई थीं.

अब इसी मामले के लिए सुनवाई के लिए गठित साकेत फास्ट ट्रैक कोर्ट ने इस आरोप पत्र पर अपनी मुहर लगाते हुए इन पाँचों के खिलाफ 13 धाराओं के अंतर्गत आरोप तय कर दिए हैं. इस साकेत फास्ट ट्रैक कोर्ट में इस मामले की सुनवाई 21 जनवरी से चल रही है और अब तक आरोपियों के वकीलों और अभियोजन पक्ष ने इस मामले के छह आरोपियों में से पांच के खिलाफ आरोपों पर अपनी बहसें पूरी कर ली हैं.

इस मामले के छठे आरोपी को जुवेनाइल बोर्ड द्वारा पहले ही अव्यस्क घोषित किया जा चुका है और ऐसी स्थिति में उसके ऊपर जुविनाइल एक्ट के तहत अलग से मुकदमा चलेगा. इधर आरोपियों के वकीलों ने दिल्ली पुलिस पर पक्षपात रवैये का आरोप लगाते हुए कहा है कि पाँच आरोपियों में से दो ने केवल इसीलिए जुर्म कबूला है क्योंकि दिल्ली पुलिस ने उन्हें कस्टडी में धमकाया है.

उल्लेखनीय है कि गत 16 दिसंबर की रात दिल्ली की एक चलती बस में इस लड़की के साथ छह लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था. बलात्कार करने के बाद आरोपियों ने इस लड़की और उसके पुरुष मित्र की बेरहमी से पिटाई भी की थी और चलती बस से नीचे फेंक दिया था, जिसके बाद लड़की का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा था. बाद में बेहतर इलाज के लिए उसे सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई थी.