पहला पन्ना > राजनीति Print | Send to Friend | Share This 

सुधींद्र कुलकर्णी ने भाजपा छोड़ी

भारतीय जनता पार्टी से अलग हुए सुधींद्र कुलकर्णी

नई दिल्ली. 23 अगस्त 2009

 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में लगातार चल रहे आतंरिक मतभेदों के बीच लालकृष्ण आड़वाणी के राजनीतिक सलाहकार सुधींद्र कुलकर्णी ने रविवार को पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी. उनका कहना है कि उन्होंने वैचारिक मतभेदों के कारण पार्टी छोड़ दी है. कुलकर्णी लंबे समय तक अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी जैसे वरिष्ठ नेताओं के करीबी सहयोगी रहे हैं. उन्होंने इसी वर्ष हुए लोकसभा चुनावों में "आडवाणी फॉर पीएम" कैंपेन की अगुआई भी की थी.

इससे पहले कुलकर्णी ने जिन्ना मुद्दे पर जसवंत सिंह के निष्कासन का विरोध किया था. इसके बाद से ही वो पार्टी में अलग थलग पड़ गए थे. हालांकि उनका कहना है कि उनका पार्टी को छोड़ने के फैसले का जसवंत सिंह के निष्कासन से कुछ लेना-देना नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के प्रति उनकी आस्था हमेशा बनी रहेगी और वे हमेशा ही उसके शुभचिंतक बने रहेंगे. इधर कुलकर्णी का पार्टी से इस्तीफा देना लोकसभा चुनावों में उनके कैंपेन की असफलता और जसवंत सिंह के प्रति उनके नरम रवैये से जोड़कर देखा जा रहा है.