पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

गैंगरेप में कुरियन की होगी विदाई ?

गैंगरेप में कुरियन की होगी विदाई ?

नई दिल्ली. 14 फरवरी 2013

पी जे कुरियन


सूर्यनेल्ली सामूहिक बलात्कार मामले में राज्यसभा के उपसभापति पीजे कुरियन ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपनी सफाई दी. कहा जा रहा है कि कुरीयन इस मामले में केंद्र सरकार की किरकिरी के बाद इस्तीफा दे सकते हैं. हालांकि इस बारे में अंतिम निर्णय शुक्रवार के आसपास लिये जाने की खबर है. इधर केरल में अपनी कानूनी राय में राज्य लोक अभियोजक ने कहा है कि पीड़िता केवल उन्हीं आरोपों को दोहरा रही है, जो उन्होंने पहले लगाए थे. ऐसा कोई नया आरोप नहीं है, जिसको लेकर जांच की ज़रुरत हो. इससे पहले राज्यसभा के उपसभापति पी जे कुरियन ने केरल के सूर्यनेल्ली सामूहिक बलात्कार कांड में सफाई देते हुये कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी को पत्र लिख कर कहा था कि उन्हें राजनीतिक कारणों से फंसाया जा रहा है.

इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता पीसी चाको ने कहा था कि गैंगरेप के मामले में उलझे राज्यसभा के उपसभापति पीजे कुरियन के बारे में बजट सत्र से पहले ही कांग्रेस फैसला करेगी. कुरियन को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच कांग्रेस प्रवक्ता पीसी चाको ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान सभी मामलों से वाकिफ है और उसकी आंखें बंद नहीं हैं. हालांकि इसके बाद चाको अपनी बात से पलट गये.

राज्यसभा के उप सभापति पी जे कुरियन के खिलाफ केरल में हुये प्रदर्शन के बीच सूर्यनेल्ली रेप केस की पीड़िता की मां ने भी कहा था कि अगर सांसद पी जे कुरियन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई तो यह देश की महिलाओं के साथ अत्याचार होगा. रेप पीड़िया की मां ने सोनिया गांधी को पत्र लिख कर कहा है कि राज्यसभा में महिलाओं से संबंधित मुद्दे पर विमर्श होना है, इसलिए यह बेहद खेदजनक है कि उनकी बेटी को प्रताड़ित करने वाले कुरियन उस कार्यवाही की निगरानी करेंगे. इधर कुरियन ने कहा है कि उन्हें राजनीतिक कारणों से निशाना बनाया जा रहा है.

गौरतलब है कि केरल के इदुक्की जिले में 1996 में 16 वर्षीय किशोरी के साथ हुए सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया था. सूर्यनेल्ली रेप केस नाम से चर्चित इस मामले में ये तथ्य सामने आये थे कि एक बस कंडक्टर ने पीड़िता का अपहरण कर लिया और उसके साथ 45 दिनों तक 42 लोग दुष्कर्म करते रहे. इन 42 लोगों में पीड़िता ने आज के राज्यसभा के उप सभापति पी जे कुरियन का भी नाम शामिल किया था. मामले में अदालत ने 35 लोगों को सजा सुनाई लेकिन बाद में एक के अलावा सभी दूसरे लोगों को हाईकोर्ट ने बरी कर दिया. सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल आदेश दिया कि मामले की फिर से सुनवाई की जाये.

रेप पीड़िता की मां ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र भेजते हुये कहा है कि वे उस मां को पत्र लिख रही हैं, जिनकी भी बेटी उसी उम्र की है जिस उम्र की बेटी उनकी है. राज्यसभा में महिलाओं से संबंधित मुद्दे पर विमर्श होना है, इसलिए यह बेहद खेदजनक है कि उनकी बेटी को प्रताड़ित करने वाले कुरियन उस कार्यवाही की निगरानी करेंगे.

रेप पीड़िता की मां ने सोनिया गांधी को लिखा कि उनकी बेटी को प्रताड़ित करने वालों को बरी करने संबंधी हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट द्वारा निरस्त कर दिया गया है. ऐसे में हम आपसे चाहते हैं कि कुरियन के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें. इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता पीसी चाको ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान सभी मामलों से वाकिफ है और उसकी आंखें बंद नहीं हैं. हालांकि पार्टी में जब इस मुद्दे पर विवाद शुरु हुआ तो चाको अपने बयान से पलट गये.अब बचाव की कमान कुरियन ने खुद संभाल ली है और उनके साथ राज्य सरकार भी जुट गई है. लेकिन सोनिया गांधी के दरबार में उनकी सफाई के बाद माना जा रहा है कि कुरियन विदा होंगे.