पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतरराष्ट्रीय > Print | Share This  

उल्कापिंडों की वर्षा में कई घायल

उल्कापिंडों की वर्षा में कई घायल

मॉस्को. 15 फरवरी 2013. बीबीसी

meteor shower


रूस में आंतरिक मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक केंद्रीय शहर में उल्कापिंड के टुकड़े गिरने से इमारत के शीशे टूट गए हैं और 500 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर हैं. माना जा रहा है कि इस उल्कापिंड का वजन दस टन था. रूस के शहर यूराल के ऊपर इस उल्कापिंड से निकलते हुए अंगारे आकाश में उड़ते हुए देखे गए जिसकी वजह से कई सिलसिलेवार धमाके हुए. आतंरिक मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना है कि इस उल्कापिंड की वजह से छह शहरों में नुकसान हुआ है

चेल्याबिन्स्क के निवासियों के मुताबिक उन्होंने धरती को हिलते हुए महसूस किया और गाड़ियों के अलार्म बज रहे थे. समाचार एजेंसी रॉयटर को एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि इस उल्कापिंड के टुकड़ो को चेल्याबिन्स्क से 200 किलोमीटर उत्तर में स्थित येकातरीनबर्ग में गिरते हुए देखा जा सकता था.

चिकित्सक अधिकारियों के मुताबिक इमारत की खिड़कियों के टूटने की वजह से कम से कम 100 लोग घायल हो गए और अब उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. चेल्याबिन्सक में एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि शुक्रवार की सुबह उन्होंने एक बड़े धमाके की आवाज़ सुनी और इसके बाद 19 तल वाली इमारत में तेज झटके महसूस किए गए.

समाचार एजेंसी इनटरफैक्स का कहना है कि प्राथमिक रिपोर्टों से ये सकेंत मिलते है कि कांच के टुकड़ों के हवा में उड़ने के कारण चार लोग घायल हो गए. चेल्याबिन्सक और स्वर्दलॉव्सक क्षेत्र में लोगों ने आकाश में जलती हुई चीज़ो को देखा जो येकातरीनबर्ग और त्यूमेन शहरों में गिरते हुए देखे गए.

समाचार एजेंसी एपी ने आतंरिक मंत्रालय के प्रवक्ता के हवाले से छापा है कि जस्ता फैक्टरी के छत का 600 वर्ग फीट हिस्सा ढ़ह गया. चेल्याबिन्सक, रूस का मुख्य ओद्यौगिक क्षेत्र है. इस इलाके में कई फैक्टरियां है, एक परमाणु ऊर्जा संयंत्र है और मायक परमाणु कचरे के भंडरण और उसके शोधन के लिए बना केंद्र है.

आपातकालीन मंत्रालय का कहना है कि प्रभावित इलाकों में हज़ारों की संख्या में राहतकर्मी भेजे गए है. अधिकारियों का कहना है कि यूराल की पहाड़ियों पर एक बड़े उल्कापिंड का विखंडन हुआ जिसकी वजह से पहले उसने वायुमंडल के निचले हिस्से को आंशिक रुप से जलाया जिसके बाद इसके टुकड़े धरती की तरफ गिरने लगे.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in