पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

भारत को वापस नहीं मिलेगा कोहिनूर

भारत को वापस नहीं मिलेगा कोहिनूर

नई दिल्ली. 21 फरवरी 2013. बीबीसी

डेविड कैमरून


तीन दिनों के भारतीय दौरे पर आए ब्रितानी प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा है कि कोहिनूर हीरे को भारत को लौटाया नहीं जाएगा. दुनिया के सबसे बड़े हीरों में से एक 105 कैरेट के कोहिनूर हीरे को 19वी सदी में भारत से ब्रिटेन ले जाया गया था, जब भारत पर अंग्रेज़ों का क़ब्ज़ा था.

हीरा फ़िलहाल लंदन टावर में रखा हुआ है. महात्मा गांधी के पोते समेत कई भारतीयों ने ब्रिटेन से मांग की थी कि वो कोहिनूर हीरा भारत को लौटा दे.

लेकिन कैमरन ने उनकी मांग को ख़ारिज करते हुए कहा, ''मुझे नहीं लगता कि ये सही तरीक़ा है. ग्रीस के एलगिन संगमरमर के साथ भी यही मामला है. मुझे चीज़ों को लौटाने में कोई विश्वास नहीं है. मुझे नहीं लगता कि ये एक समझदारी वाली बात है.''

ग़ौरतलब है कि ग्रीस के पत्थरों से बनी मूर्तियों को भी ब्रिटेन लाया गया है और ग्रीस एक लंबे समय से उन्हें वापस लौटाने की मांग करता रहा है लेकिन ब्रिटेन ने उन्हें भी लौटाने से मना कर दिया है.

इस बारे में आगे बोलते हुए कैमरन ने कहा, ''इसका सही जवाब ये है कि ब्रिटेन के संग्रहालय और दूसरे सांस्कृतिक संस्था दुनिया भर के दूसरे संस्थाओं से संपर्क कर सुनिश्चित करें कि उन चीज़ों की जिसकी ब्रिटेन ने इतने दिनों से बेहतरीन तरीक़ से देख-भाल की है, उन्हें दुनिया के लोगों के साथ साझा किया जा सके.''

कैमरन ने कहा कि वो पीछे जाने के बजाए भारत के साथ मौजूदा और भविष्य के रिश्तों के बारे में अपना ध्यान केंद्र करना चाहते हैं. ग़ुलाम भारत में तत्कालीन गवर्नर जनरल ने 1850 में भारत के इस नायाब हीरे को उस समय ब्रिटेन की महारानी विक्टोरिया को तोहफ़े के तौर पर पेश किया था.

बाद में इसे महारानी एलिज़ाबेथ-प्रथम के ताज में सजा दिया गया था. महारानी एलिज़ाबेथ-द्वितिय ने 1997 में भारतीय स्वतंत्रता के 50 वर्ष पूरे होने के अवसर जब भारत का दौरा किया था तब कई भारतीयों ने उनसे कोहिनूर हीरे को लौटाने की मांग की थी.

ब्रिटेन के मौजूदा राजकुमार प्रिंस विलियम की पत्नी केट मिडलटन अगर अगली महारानी बनती हैं तो वो सरकारी अवसरों पर कोहिनूर हीरे से सजे ताज पहनेंगी.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

sanjeev kr choudhary [] patna - 2013-02-22 06:30:31

 
  Please return Kohinoor Heera to INDIA. KOHINOOR HEERA IS INDIAN ASSET 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in