पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >आंध्र-प्रदेश Print | Share This  

हैदराबाद में सीरियल ब्लास्ट, कई मरे

हैदराबाद में सीरियल ब्लास्ट, कई मरे

हैदराबाद. 21 फरवरी 2013

hyderabad explosion


हैदराबाद के व्यस्त इलाके दिलसुख नगर में गुरुवार शाम को हुए दो सिलसिलेवार धमाकों में कम से कम 11 लोग के मारे जाने और 78  लोगों के घायल होने की खबर हैं. पहले कहा जा रहा था कि पाँच धमाके हुए हैं लेकिन केंद्रीय गृहमंत्री सुशी कुमार शिंदे ने दो ही धमाकों की आधिकारिक पुष्टि की है.

स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये बम धमाके शाम को 7.01 बजे पहला धमाका कोनार्क थिएटर के पास हुआ और उसके पाँच मिनट बाद ही दूसरा धमाका फुटओवर ब्रिज के पास हुआ. एक और बम वेंकटाद्री थिएटर के पास पाया गया जिसे समय रहते निष्क्रीय कर दिया गया. ये सभी इलाके काफी भीड़भाड़ वाले हैं

धमाकों के बाद पुलिस ने घटनास्थलों की घेराबंदी कर ली और वहां एनएसजी की टीम भी पहुँच गई है. सभी घायलों को यशोदा अस्पताल, ओस्मानिया अस्पताल, कमला देवी अस्पताल और ओमनी अस्पताल में भर्ती करया गया है. अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी अपने उपर नहीं ली है लेकिन पुलिस विभाग के सूत्रों के अनुसार इसके पीछे इंडियन मुजाहिदीन का हाथ हो सकता है.

केंद्रीय गृह मंत्री श्री शिंदे ने कहा है कि उन्हें दो ही दिन पहले इससे संबंधित सूचना मिली थीं कि देश के कुछ इलाकों में आतंकी बम विस्फोट कर सकते हैं, जिसे राज्यों को बता दिया गया था. उधर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हैदराबाद विस्फोट की निंदा की, साथ ही विस्फोटों में मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की

 

प्रदेश के डीजीपी दिनेश रेड्डी ने बताया कि धमाकों में आईईडी का इस्तेमाल किया गया लेकिन इस बात का अनुमान लगाने से इनकार कर दिया कि घटना के पीछे कौन हो सकता है. घटना के बाद देश के अन्य महानगरों में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गय़ा है और सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. गौरतलब है कि हैदराबाद पहले भी आतंकियों के निशाने पर रहा है, शहर में 2007 में भी दो बम धमाकों में 40 लोग मारे गए थे.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

bhanu patel [brpatel56@yahoo.co.in] usa - 2013-02-22 06:27:01

 
  One who has done this is not going to be benifited by a single penny except painting his bloody hand.may all mighty god give him good understanding. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in