पहला पन्ना >राज्य >केरल Print | Share This  

हत्यारे इतालवी नौसेनिक फिर जाएंगे स्वदेश

हत्यारे इतालवी नौसेनिक फिर जाएंगे स्वदेश

नई दिल्ली. 22 फरवरी 2013

भारतीय मछुआरों की हत्या के आरोपी इतालवी नौसैनिक


उच्चतम न्यायालय की एक पीठ ने दो भारतीय मछुआरो की गोली मार कर हत्या करने के आरोपी इतालवी नौसेनिकों को स्वदेश जाने की अनुमति दे दी है. मैसिमिलिआनो लातोर और सल्वातोर गिरोन नामक इन इतालवी नौसैनिकों को इटली में 24 और 25 फरवरी को होने वाले आम चुनावों में वोट डालने के लिए यह अनुमति मिली है.

इन इतावली मरीनों को ये अनुमति उच्चतम न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश जस्टिस अल्तमास कबीर की नेतृत्व वाली पीठ ने दी है. पीठ के समक्ष इन दोनों मरीनों और इटली सरकार ने संयुक्त रूप से आवेदन किया था कि इन दोनों सैनिकों को वोट देने के लिए चार हफ्ते के लिए अपने स्वदेश इटली जाने दिया जाए.

ये इतालवी सैनिक भारत में इटली के राजदूत के निगरानी और हिरासत के तहत स्वदेश जाएंगे. वैसे ये पहला मौका नहीं है कि जब इन सैनिकों को भारतीय हिरासत में रहते हुए स्वदेश जाने के अनुमति मिली है. इससे पहले भी इन्हें अपने परिवारों के साथ क्रिसमस का त्यौहार मनाने के लिए दो हफ्ते इटली में बिताने दिए गए थे.

उल्लेखनीय है कि इन दोनों इतालवी नौसैनिकों को पिछले साल 19 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था. इन पर आरोप है कि उन्होंने अपने वाणिज्यिक पोत ‘एनरिका लेक्सी’ से अलपुझा के तट पर दो भारतीय मछुआरों अजेश बिंकी (25) और जेलेस्टाइन (45) को सोमाली दस्यु समझ कर गोली मार दी थी जिससे दोनों की मौत हो गई थी.