पहला पन्ना >खेल >श्रीलंका Print | Share This  

सचिन के बिना मर जाएगा टेस्ट क्रिकेट

सचिन के बिना मर जाएगा टेस्ट क्रिकेट

बेंगलुरु. 23 फरवरी 2013

सचिन तेंदुलकर


क्रिकेटर अर्जुन रणतुंगा का कहना है कि भारतीय मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर टेस्ट क्रिकेट की जान हैं. अगर उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया तो टेस्ट क्रिकेट मर जायेगा. सचिन तेदुंलकर अभी क्रिकेट के लिये फिट हैं और उन्हें अभी खेलते रहना चाहिये.

क्रिकेट में अपनी खास पहचान रखने वाले श्रीलंका के पूर्व कप्तान रणतुंगा ने कहा कि असली क्रिकेट तो टेस्ट क्रिकेट ही है. वन डे या टी 20 जैसे मैच तो केवल मनोरंजन के लिये होते हैं. इनका कोई खास महत्व नहीं है. हालांकि ऐसे मैच में जरुरी हैं लेकिन किसी खिलाड़ी की असली क्षमता तो टेस्ट क्रिकेट से ही पता चलती है.

अर्जुन रणतुंगा ने कहा कि सचिन तेंदुलकर ने जब वनडे क्रिकेट से संन्यास लिया तो मुझे बहुत प्रसन्नता हुई. सचिन असल में तो टेस्ट क्रिकेट के लिये ही बने हैं. 39 की उम्र में भी वे जिस तरह से क्रिकेट खेलते हैं, उससे यह बात साफ होती है कि वे कई युवा भारतीय खिलाड़ियों से बेहतर हैं. रणतुंगा ने कहा कि उन्हें एक अच्छी पारी की ज़रुरत है और ऐसा करने के बाद उनके पास 2-3 साल तक बिना किसी परेशानी के क्रिकेट खेलने की विकल्प रहेगा. मैं कामना करता हूं कि वे टेस्ट क्रिकेट खेलते रहें.