पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

पानी किसी के बाप का नहीं-आसाराम

पानी किसी के बाप का नहीं-आसाराम

सूरत. 28 मार्च 2013

आसाराम बापू


आसाराम बापू ने दावा किया है कि जहां भी सूखा पड़ा होता है, वहां वो पानी बरसा देते हैं. होली में अपने आश्रम में भक्तों के साथ जम कर रंगीन बौछार करने वाले आसाराम बापू ने कहा कि हम सरकार के बाप से पानी नहीं लेते. उन्होंने पानी की बर्बादी को लेकर की जाने वाली आलोचनाओं को लेकर मीडिया पर भी जम कर निशाना साधा और मीडिया को फिर से कुत्ता करार दिया.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में उन्होंने होली के लिये पानी की मांग की थी तो सरकार ने उन्हें मना कर दिया था. इसके बाद आसाराम बापू की देश भर में आलोचना हुई थी. सरकार का कहना था कि जिस राज्य की जनता बूंद-बूंद पानी के लिये तरस रही हो, वहां पानी का इस तरीके से दुरुपयोग करने की इजाजत नहीं दी जा सकती.

अब आसाराम बापू ने कहा कि पानी किसी के बाप का नहीं है. मैंने तो अपने भक्तों के साथ होली खेलने के लिए बहुत कम मात्रा में पानी का प्रयोग किया था, जिसपर बहुत हायतौबा मचाई जा रही है. उन्होंने कहा कि जब महाराष्ट्र के एक मंत्री के लिए हेलीपैड बनाने के लिए पानी के 41 टैंकरों का इस्तेमाल किया गया, तब मीडिया ने क्यों नहीं हायतौबा की. उन्होंने मीडिया को कुत्ता बताते हुये दलाली करने का आरोप लगाया.