पहला पन्ना >राजनीति >महाराष्ट्र Print | Share This  

मुंबई पुलिस के जेहाद पर विवाद

मुंबई पुलिस के जेहाद पर विवाद

मुंबई. 2 अप्रैल 2013

जेहाद


लड़कियों को कथित तौर पर जेहाद के लिये तैयार करने संबंधी मुंबई पुलिस के एक परिपत्र को लेकर विवाद शुरु हो गया है. इस पत्र को लेकर कुछ मुस्लिम संगठनों ने पुलिस को चेतावनी दी है कि मुंबई पुलिस इसके लिये माफी मांगे अन्यथा वे कानूनी कार्रवाई करेंगे. इसके अलावा कुछ संगठनों ने पुलिस के खिलाफ सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने की भी बात कही है.

सारे विवाद की जड़ मुंबई पुलिस का एक परिपत्र है. इस परिपत्र में कहा गया है कि जमात-ए-इस्लामी हिंद की महिला शाखा गर्ल्स इस्लामिक आर्गनाइजेशन यानी जीआईओ लड़कियों को जेहाद के लिए दिमागी तौर पर तैयार करने और प्रशिक्षण देने के मकसद से काम कर रहा है. परिपत्र के अनुसार जमात-ए-इस्लामी हिंद की महिला शाखा गर्ल्स इस्लामिक आर्गनाइजेशन यानी जीआईओ की स्थापना पवित्र कुरान और अपने धर्म से ज्यादा से ज्यादा मुस्लिम महिलाओं को जागरूक करने के लिए केरल में हुई थी. लेकिन इसका असल उद्देश्य स्कूल और कॉलेज की छात्राओं को ब्रेन वाश के जरिये जिहाद के लिए तैयार करना था. यह आपत्तिजनक परिपत्र कहीं से लीक हो गया है.

जमात-ए-इस्लामी हिंद का कहना है कि मुसलमानों के प्रति नफरत का भाव पैदा करने के उद्देश्य से इस तरह की बात लिखी गई है. जमात की महाराष्ट्र इकाई के प्रवक्ता मोहम्मद असलम गाजी ने कहा है कि मुंबई पुलिस ने माफी नहीं मांगी तो उसके खिलाफ मुकदमा किया जाएगा. गाजी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने जानबूझ कर उनके संगठन को बदनाम करने के उद्देश्य से इस तरह की बातें कही हैं. गाजी ने कहा कि अगर इस मामले में मुंबई पुलिस ने माफी नहीं मांगी तो उनका संगठन पुलिस के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगा.