पहला पन्ना >व्यापार >दिल्ली Print | Share This  

दीपक भारद्वाज हत्याकांड में महंत का हाथ

दीपक भारद्वाज हत्याकांड में महंत का हाथ

नई दिल्ली. 3 अप्रैल 2013

दीपक भारद्वाज


दिल्ली पुलिस ने अरबपति नेता दीपक भारद्वाज हत्याकांड में दावा किया है कि इस हत्याकांड का मास्टर माइंड महंत प्रतिमानंद हैं. पुलिस सूत्रों के अनुसार, दीपक भारद्वाज और महंत प्रतिमानंद के बीच हरियाणा में एक जमीन को लेकर विवाद बताया जा रहा है, जिसके चलते ही इस हत्या की साजिश रची गई हो सकती है. कहा जा रहा है कि महंत प्रतिमानंद ने ही 2 करोड़ की सुपारी पुरुषोत्तम को दी थी और इसके पीछे वजह थी वह जमीन, जिस पर महंत और दीपक भारद्वाज में विवाद था.

गौरतलब है कि पुलिस ने अरबपति कारोबारी और बसपा नेता दीपक भारद्वाज की हत्या का मामला जल्दी ही सुलझाने का दावा किया है. पुलिस सूत्रों का कहना है कि स्कोडा कार में 3 हमलावर आये और उन्होंने अपने फार्महाउस में बैठे दीपक भारद्वाज को गोली मार दी. दीपक की मौके पर ही मौत हो गई थी.

2009 में दीपक भारद्वाज ने बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था और 600 करोड़ की अपनी संपत्ति बता कर सबसे रईस उम्मीदवार के रुप में चर्चित हुये थे. स्टेनोग्राफर से इतने बड़े कारोबारी बने दीपक भारद्वाज जमीन-जायदाद के धंधे में लिप्त थे. उनकी हत्या के बाद इससे पहले कुछ महिलाओं का नाम सामने आया था.

दीपक भारद्वाज की हत्या के मामले में उनकी पत्नी रमेश कुमारी ने दीपक की गर्लफ्रेंड को जिम्मेवार ठहराया था. वहीं दीपक भारद्वाज की महिला मित्र ने इसके लिये पत्नी औऱ बेटे को जिम्मेवार ठहराया था. उसका कहना था कि दीपक की पत्नी और बेटा उनके रिश्तों की वजह से काफी नाराज थे. मां-बेटे को आशंका थी कि दीपक अपनी करोड़ों की प्रॉपर्टी इस महिला को न दे दें. महिला का आरोप था कि इसी कारण दीपक की हत्या कराई गई है.