पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

रिकॉर्ड फसल लेकिन किसान बेहाल

मधुमेह की महामारी कीटनाशक के कारण?

सूचकांक से कहीं ज्यादा बड़ी है भुखमरी

अंतिम सांसे लेता वामपंथ

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

रिकॉर्ड फसल लेकिन किसान बेहाल

मधुमेह की महामारी कीटनाशक के कारण?

अंतिम सांसे लेता वामपंथ

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >उ.प्र. Print | Share This  

इलाहाबाद: पुलिस वैन से दस कैदी फरार

इलाहाबाद: पुलिस वैन से दस कैदी फरार

इलाहाबाद. 8 अप्रैल 2013

police van


इलाहाबाद में पेशी के लिए अदालत ले जाए जा रहे दस कैदी चलती पुलिस वैन का ताला तोड़ कर फरार हो गए. बताया जा रहा है कि शहर के जार्जटाउन थाना क्षेत्र के बालसन चौराहे पर जैसे से पुलिस वैन पहुंची वैन में सवार सभी 14 कैदी पीछे का ताला तोड़कर बाहर कूद गए. इनमें से दस कैदी फरार हो गए जबकि चार अन्य पकड़ में आ गए.

इन सभी कैदियों को नैनी सेंट्रल जेल से पेशी के लिए अदालत ले जाया जा रहा था. कैदियों की भागने की खबर लगते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया. तुरंत शहर के सभी थानों को अलर्ट किया गया और सभी इलाकों की नाकेबंदी भी कराई गई लेकिन कोई भी फरार कैदी हाथ नहीं आ पाया. भागने वालों में हत्या, डकैती जैसे कुछ्यात अपराधों में पकड़े गए अपराधी भी शामिल हैं.

माना जा रहा है कि इस घटना के पीछे पुलिस वैन की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों की लापरवाही है. वैन पर ड्राइवर के अलावा एक सब इंस्पेक्टर और तीन सिपाहियों की ड्यूटी लगी हुई थी. नियम के हिसाब से कैदियों के साथ कम से कम दो सिपाहियों को दरवाजे के पास बैठना चाहिए लेकिन सभी चारों पुलिसकर्मी सामने ड्राइवर के साथ बैठे थे.

कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने तो यह तक कहा है कि पीछे के गेट पर ताला ही नहीं लगा था जिसके कारण ये कैदी भागने में सफल रहे. इसी वजह से इसके पीछे किसी साजिश से इंकार भी नहीं किया जा सकता है. अब पुलिस प्रशासन ने वैन में मौजूद पुलिसकर्मियों पर सख्ती बरतते हुए उन्हें निलंबित कर दिया है और फरार कैदियों की तलाश मेंप जुट गई है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in