पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

मोदी नहीं चाहते पीएम बनना

मोदी नहीं चाहते पीएम बनना

कोलकाता. 9 अप्रैल 2013

नरेंद्र मोदी


देश भर में पीएम बनने के लिये दौरा कर रहे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक नेता की प्रधानमंत्री बनने की इच्छा हो सकती है लेकिन वह नेता नहीं हैं. उन्होंने कहा कि मैं अराजनीतिक आदमी हूं. मोदी कोलकाता में उद्यमियों की सभा को संबोधित कर रहे थे. अपने भाषण में मोदी ने वाम दलों पर तीखा वार किया तो ममता बनर्जी के प्रति ममता उढ़ेलते हुये उनकी ओर दोस्ती का हाथ बढ़ाने की कोशिश की.

एमसीसी चैंबर ऑफ कॉमर्स, चैंबर ऑफ कॉमर्स ऑफ कोलकाता और भारत चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित कार्यक्रम में नरेंद्र मोदी ने कहा कि वे वहां बंगाल और गुजरात के बीच किसी तुलना के लिए नहीं आए हैं. मोदी ने कहा कि गुजरात में कांग्रेस मित्रों के किए गए गड्ढों को भरने में मेरे 10 साल चले गए. पश्चिम बंगाल में तो 32 सालों में ऐसे-ऐसे गड्ढे हुए हैं कि. .. क्या तबाही का मंजर चला है 32 साल तक... यहां की जनता ने जिसे जिम्मेदारी दी है उसे न जाने कितने सालों तक कितनी मेहनत करनी पड़ेगी तब जाकर ये गड्ढे भरेंगे. मुझे विश्वास है कि इन दिनों जो प्रयास हो रहे हैं, वे गड्ढे भरने की दिशा में हो रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि पश्चिम बंगाल के लोगों के सपने जरूर पूरे होंगे. मोदी ने कहा कि ये गड्ढे भरेंगे तो बंगाल के लोगों का विकास होगा.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि बंगाल में पिछले 32 साल में जो तबाही का मंजर चला है, उसे देखते हुए जनता के दायित्वों को पूरा करने में सरकार को कई साल लगेंगे. सालों की मेहनत के बाद ही ये गड्ढे भरे जा सकेंगे. अभी गड्ढे भरने का काम किया जा रहा है. मुझे विश्वास है कि बंगाल के लोगों का विकास होगा. 32 साल के गड्ढे को भरने में वक्त लगेगा. वहीं केंद्र सरकार पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि दिल्ली सरकार कैलेंडर नहीं देख रही है, वो घड़ी देख रही है.

मोदी ने कहा कि आज हिंदुस्तान को विकास में बढ़ाना है तो पूर्वोत्तर भारत को ऊंचाइयों पर ले जाना होगा. इसके लिए बंगाल का विकास जरूरी है. कोलकाता के विकास से ही बंगाल का विकास नहीं होगा. पूर्वोत्तर भारत विकास का द्वार है. बंगाल के लोग विरासत से प्रेरणा लेंगे तो अपने सपने को साकार होते देख सकते हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in