पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

मोदी पर वार से राजग में टूट के आसार

मोदी पर वार से राजग में टूट के आसार

नई दिल्ली. 15 अप्रैल 2013

नरेंद्र मोदी


नरेंद्र मोदी के खिलाफ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान के बाद राजग का गठबंधन टूट के कगार पर खड़ा हो गया है. बिहार भाजपा के पदाधिकारियों ने आज भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह से मुलाकात करके नीतीश के खिलाफ मोर्चा खेल दिया है. केंद्रीय नेतृत्व ने बिहार में पार्टी के कर्ताधर्ता उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित कई मंत्रियों को अचानक दिल्ली तलब किया है. ध्यान रहे कि बिहार में नीतीश कुमार की सरकार भाजपा गठबंधन के भरोसे ही है.

जदयू की बैठक के अंतिम दिन नरेंद्र मोदी का नाम लिये बिना नीतीश कुमार ने मोदी और उनके विकास पर जिस तरह से तीर छोड़े उसका दर्द भाजपा में बहुत गहरे तक हुआ.

जदयू की बैठक में नीतीश ने मोदी पर तंज कसते हुए कहा था कि इस देश में टोपी भी पहननी पड़ेगी और कभी गले भी लगाना होगा. गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने सद्भभावना उपवास के दौरान अल्पसंख्यक समाज के एक धर्मगुरु की तरफ से भेंट की गई टोपी पहनने से इनकार कर दिया था. नीतीश ने कहा कि बिहार में मॉडिफिकेशन की जरुरत नहीं है. गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने कोलकाता में बिहार में बदलाव के सवाल पर कहा था कि वहां 'मोदीफिकेशन' नहीं 'मॉडिफिकेशन' की जरुरत है.

नीतीश कुमार ने कहा था कि देश के मानस को समझना चाहिए, ये देश हवा बनाने से नहीं चल सकता है. लोगों को भ्रम हो जाता है कि जो हवा बांध देंगे उसी में लोग बंध जाएंगे. इस देश के लोग कम पढ़े लिखे हो सकते हैं लेकिन अक्लमंद होते हैं, उनकी अक्ल में कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि विकास तो सब जगह हो रहा है, लेकिन कैसा विकास होना चाहिए? एक और विकास कर रहे हैं और दूसरी और लोग कुपोषण का शिकार हो रहे हैं. विकास भी कर रहे हैं और लोगों को पीने के लिए पानी भी नहीं मिल रहा है. विकास का असली मतलब है बुनियादी ढांचे के विकास के साथ-साथ मानव का भी विकास.

अब नीतीश कुमार को लेकर भाजपा बेहद नाराज बताई जा रही है. बिहार भाजपा के कई नेता साफ कर चुके हैं कि अब नीतीश कुमार के साथ रिश्ते बहुत लंबे नहीं चल सकते. बिहार सरकार में शामिल भाजपा के मंत्री दिल्ली पहुंच चुके हैं और उनके नेता भी. भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने बहुत हल्की बात की है. हमें ऐसा अपमान मंजूर नहीं है. ऐसा गठबंधन भी मंजूर नही है. अब आर-पार की लड़ाई हो गई है. हम पार्टी अध्यक्ष से नीतीश के इस हल्केपन पर विरोध जताएंगे. उन्होंने कहा कि अगर गठबंधन रहना है तो रिश्ते के आधार पर रहे, न कि हमें इस तरह से बेइज्जत किया जाए.

भाजपा के सचिव रामेश्वएर चौरसिया ने कहा कि नीतीश के भाषण से बिहार की जनता निराश हुई है. यदि कोई गठबंधन में शामिल अपने ही सहयोगियों को निशाना बनाते हैं तो फायदा कांग्रेस को ही होगा. माना जा रहा है कि बिहार भाजपा के नेता इस बार किसी भी हाल में राजग गठबंधन में जदयू के साथ रहने के पक्ष में नहीं है. भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व भी नीतीश कुमार की बयानबाजी को लेकर असहज है. ऐसे में भाजपा अगर जदयू को दोटूक सवाल-जवाब करे तो उसमें आश्चर्य नहीं होना चाहिये.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in