पहला पन्ना > > Print | Share This  

तलवार दंपत्ति ने की आरुषि-हेमराज की हत्या

तलवार दंपत्ति ने की आरुषि-हेमराज की हत्या

गाज़ियाबाद. 11 अप्रैल 2013

aiqtel


बहुचर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले मे सीबीआई का कहना है कि इन दोनों की हत्या तलवार दंपत्ति ने ही की थी. सीबीआई के जाँच अधिकारी ए.जी.एल कौल ने गाज़ियाबाद सीबीआई कोर्ट को मामले की सुनवाई के दौरान बताया कि उनकी जाँच से यह खुलासा हुआ है कि हत्या की रात मकान में किसी तीसरे व्यक्ति का प्रवेश नहीं हुआ था. उस समय मकान में सिर्फ चार लोग मौजूद थे जिसमें से दो की हत्या हो गई और दो जिंदा बच गए.

कौल इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से गवाह के रूप में पेश हुए थे. अदालत के समक्ष उन्होंने कहा कि चूंकि उस समय मारे जाने वाले हेमराज और आरुषि के अलावा तलवार दंपत्ति ही मकान में मौजूद थे इसीलिए हत्या का शक इन दोनो पर ही जाता है.

उन्होंने यह भी कहा कि हेमराज के शव को खींच कर छत तक ले जाना, उसे कूलर पैनल से ढकना, आरुषि के बेडरूम को बाहर से बंद करना, अपराध स्थल से छेड़छाड़ करने जैसे संकेत बताते है कि हत्या डॉ. राजेश और डॉ. नुपुर तलवार ने ही की थी.

सीबीआई के जाँच अधिकारी की इस गवाही से तलवार दंपत्ति की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. इससे कुछ दिन पहले भी मामले की जांच कर रहे फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉक्ट़र मोहेन्द्र सिंह दहिया ने भी कहा था कि चूंकि हत्या सर्जिकल चाकू और गोल्फ स्टिक से की गई थी इसीलिए हत्या का शक तलवार दंपत्ति पर ही जाता है. उन्होंने कहा था कि हत्या के पीछे संभवित कारण आरुषि-हेमराज के अवैध संबंध थे.

गौरतलब है कि 16 मई 2008 को नोएडा में 14 वर्षीया आरुषि तलवार और नौकर हेमराज की हत्या कर दी गई थी. इस मामले में 23 मई 2008 को आरुषि के पिता राजेश तलवार को गिरफ्तार किया गया था. लेकिन 11 जुलाई 2008 को राजेश तलवार को जमानत मिल गई. इस बीच पूरे मामले की जांच सीबीआई ने शुरु की थी.