पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >मध्यप्रदेश Print | Share This  

अश्लील संवाद करने वाले मंत्री का इस्तीफा

अश्लील संवाद करने वाले मंत्री का इस्तीफा

भोपाल. 17 अप्रैल 2013

विजय शाह


अपने अश्लील बयान के कारण चर्चा में आये मध्यप्रदेश के आदिम जाति कल्याण मंत्री विजय शाह को अंततः इस्तीफा देना पड़ा. इससे पहले विजय शाह ने दावा किया था कि मीडिया ने उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया है लेकिन जब विजय शाह के बयान की हकीकत सामने आई तो भाजपा के बड़े नेता भी नाराज हो गये. मुख्यमंत्री की पत्नी को लेकर शाह ने बेतूका बयान दिया था, इसलिये मुख्यमंत्री अलग नाराज थे. जब शाह को समझ में आ गया कि अब कुछ नहीं हो सकता तो उन्होंने इस्तीफा दे दिया.

इससे पहले राज्य महिला आयोग ने मीडिया में आई खबरों पर संज्ञान लेते हुए झाबुआ कलेक्टर से कार्यक्रम की सीडी तलब की थी. आयोग की अध्यक्ष उपमा राय ने कलेक्टर से कहा था कि वे सुनिश्चित करें कि सीडी से कोई छेड़छाड़ न हो. आयोग इस मामले में तथ्य आने पर सुनवाई करेगा.

गौरतलब है कि झाबुआ में छात्राओं के सामने सार्वजनिक तौर पर विजय शाह ने अश्लील और द्विअर्थी भाषण दिया था. छात्राओं के समर कैंप में कलेक्टर ने लड़कियों के लिए ट्रेकशूट की मांग रखी तो मंत्री विजय शाह ने कहा कि इन्हें दो मस्त वाली टी-शर्ट दे दो, और नीचे क्या पहनते हैं मैं नहीं जानता. किसी ने कहा लोअर कहते हैं तो शाह बोले- लोअर भी दे दो.

इसके बाद विजय शाह मंच पर मौजूद एक नाम की दो महिला नेत्रियों पर आकर ठिठक गए. उन्होंने कहा- लगता है कि झाबुआ में एक के साथ एक फ्री मिलता है. बात यहीं पर खत्म नहीं हुई. पंडाल में बैठी लड़कियों की ओर इशारा करते हुए यहां तक कह डाला, 'पहला-पहला मामला कोई नहीं भूलता.' बच्चों के ठहाकों पर उनकी प्रतिक्रिया- बच्चे भी बड़े समझदार हैं.

इसके बाद विजय शाह ने रही-सही कसर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की पत्नी को लेकर टिप्पणी करते हुये पूरी कर दी. विजय शाह ने कहा कि- मैंने भाभीजी यानी सीएम की पत्नी को कहा हमारे साथ भी चला करो, भइया के साथ तो रोज जाती हो, कभी देवर के साथ भी चली जाया करो. हम एक स्कूल में गए. बच्चे ठिठुर रहे थे. मैंने भाभी से कहा- क्या बोलती हैं आप? उन्होंने कहा-स्वेटर दे दो. पूछा- भैया मान जाएंगे? भाभी बोलीं- वो मैं देख लूंगी.

विजय शाह के बयान पर कांग्रेस पार्टी ने पहले प्रतिक्रिया देते हुये विजय शाह के इस्तीफे की मांग की. लेकिन मंत्री ने माफी मांगते हुये कहा कि मीडिया उनके बयान को तोड़-मरोड़ रहा है. जब मीडिया ने भाषण के टेप सार्वजनिक किये तो भाजपा और सरकार में बैठे लोगों ने भी शाह के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर कर दी. इसके बाद जब विवाद बढ़ा तो विजय शाह ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in