पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

बलात्कार रोकना गृहमंत्री का काम नहीं: जायसवाल

बलात्कार रोकना गृहमंत्री का काम नहीं: जायसवाल

कानपुर. 24 अप्रैल 2013

कोयला घोटाला


देश में लगातार बढ़ती बलात्कार की घटनाओं के साथ साथ राजनेताओं के बेतुके बयानों की बाढ़ सी आ गई है. ताज़ा मामला कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जयसवाल का है जिन्होंने बढ़ते दुष्कर्मों के बारे में कुछ न कर पाने पर चौतरफा आलोचना झेल रहे गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे का बचाव करते हुए पूछा है कि क्या रेप रोकना गृह मंत्री का काम है?

जायसवाल ने विपक्ष द्वारा शिंदे की इस्तीफे की मांग को गैरवाज़िब बताते हुए पूछा कि क्या सुशील कुमार शिंदे रेप के मामलों को कम कर सकते हैं? उनका कार्य तो सिर्फ पुलिस को ज्यादा से ज्यादा एक्टिव बनाना है न कि रेप रोकना.

वैसे यह पहला मौका नहीं है कि किसी राजनेता ने बलात्कार जैसे संवेदनशील मुद्दे पर अपनी बेतुका राय रखी हो. इससे पहले हाल ही में दिल्ली की गुड़िया रेप कांड पर घिरे गृहमंत्री शिंदे ने कहा था कि ऐसे मामले तो देश भर में होते रहते हैं और ऐसा सिर्फ दिल्ली में ही नहीं हो रहा. खुद जायसवाल इससे पहले भी “पत्नी पुरानी हो तो मज़ा नहीं आता है” जैसी अभद्र टिप्पणी दे चुके हैं जिसके बाद काफी बवाल मचा था. शिंदे के गैर-जिम्मेदाराना रवैये की चौतरफा आलोचना हो रही है और विपक्षी पार्टियों ने तुरंत उनके इस्तीफे की मांग की है.