पहला पन्ना >राजनीति >अमरीका Print | Share This  

आजम की बोस्टन में बेइज्जती

आजम की बोस्टन में बेइज्जती

नई दिल्ली. 26 अप्रैल 2013

आजम खान


उत्तरप्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री आजम खान की अमरीका के बोस्टन एयरपोर्ट पर हुई बेइज्जती को लेकर भारत सरकार ने चिंता जताई है. सरकार ने कहा है कि इस बारे में अमरीका के दूतावास को अपनी आपत्तियों से अवगत कराया जायेगा. इधर विपक्षी दलों ने आजम खान के साथ दुर्व्यवहार की निंदा की है.

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री आजम खान को बुधवार को बोस्टन एयरपोर्ट पर रोक लिया गया. करीब एक घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ा गया. इस बीच खान और अफसर के बीच विवाद भी हुआ. खान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट से भारत से यहां पहुंचे थे.

आजम खान को बोस्टन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कुंभ के आयोजन के संबंध में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रजेंटेशन देना था. खान पिछले माह इलाहाबाद में आयोजित महाकुंभ के प्रभारी थे. यादव और खान के एयरपोर्ट पहुंचने पर वहां के अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी करने में मदद की. भारतीय दूतावास के अधिकारी भी वहां सहायता के लिए थे.

औपचारिकताएं पूरी करने के बाद एक महिला अधिकारी खान को कुछ और पूछताछ के लिए अलग कमरे में ले गई. कुछ देर के बाद खान को हरी झंडी दी गई. इससे नाराज खान ने कहा कि मुस्लिम होने के कारण उनसे यह सलूक किया गया. इसके लिए माफी की मांग की. लेकिन आजम को उल्टा महिला अफसर ने विवाद के बढ़ जाने पर खान को रिपोर्ट दर्ज करने की भी धमकी दी. अफसर का कहना था कि वह नियमों के मुताबिक सुरक्षा जांच कर रही है.

अमरीका में भारतीय राजनेताओं, अभिनेताओं की सुरक्षा जांच के नाम पर बेइज्जती होती रहती है. जांच के नाम पर कपड़े तक उतरवाये गये हैं. ऐसे में आजम खान की इस बेइज्जती को लेकर सरकार गंभीर होगी, ऐसा लगता नहीं है.