पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

रेलवे घूसकांड में नपे पवन बंसल

रेलवे घूसकांड में नपे पवन बंसल

नई दिल्ली. 10 मई 2013

ali haider gilani


रेलवे घूसकांड मामले में भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे रेलमंत्री पवन बंसल की विदाई तय हो गई है. माना जा रहा है कि बंसल को रेल मंत्रालय से बाहर का रास्ता दिखाया जाना शुक्रवार शाम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह की बैठक में ही ले लिया गया था और बंसल को जल्द ही इस बारे में बता दिया गया था. हालांकि अभी तक बंसल ने औपचारिक रूप से इस्तीफा नहीं सौंपा है.

गौरतलब है कि बंसल के भांजे विजय सिंगला सीबीआई द्वारा रेलवे में प्रमोशन दिलाने के नाम पर रेलवे बोर्ड के मेंबर से 90 लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किए गए थे. सिंगला पर आरोप लगे थे कि उन्होंने एक उंचे पद पर नियुक्ति के बदले रेलवे बोर्ड मेंबर महेश कुमार से यह रिश्वत ली.

सिंगला की गिरफ्तारी के बाद से ही रेलमंत्री पवन बंसल के इस्तीफे की मांग उठने लगी थी. सीबीआई की जाँच में भी कुछ ऐसे सुराग मिले थे जो पवन बंसल की संलिप्तता की ओर इशारा करते हैं. मामले को लेकर विपक्षी पार्टी भाजपा लगातार यूपीए पर हमला बोल रहे थी.

ऐसे में एक तरफ कोयला घोटाले में कानून मंत्री अश्विनी कुमार को लेकर परेशान यूपीए के लिए बंसल आँख की किरकिरी बनते दिख रहे थे. शुक्रवार शाम को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दोनों मामले पर कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री को अश्विनी कुमार और बंसल पर जल्द फैसला लेना चाहिए.

बंसल की विदाई के बाद माना जा रहा है कि अश्विनी कुमार पर जल्द ही गाज़ गिर सकती है. हालांकि उनसे मंत्री पद छीने जाने के आसार कम ही हैं लेकिन यह संभव है कि उनकी मंत्रालय बदला जा सकता है.