पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >गुजरात Print | Share This  

मोदी बनाएंगे दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

मोदी बनाएंगे दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

गांधीनगर. 13 मई 2013

नरेंद्र मोदी


गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अमरीका और कनाडा गुजरातियों को संबोधित करते हुये सरदार सरोवर डैम पर सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति बनाने की घोषणा करते हुये कहा कि स्टैचू ऑफ यूनिटी नाम की यह दुनिया की सबसे उंची मूर्ति होगी. अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने गुजरात के विकास के दावे पेश किये.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि इन दिनों चारों ओर गुजरात की चर्चा हो रही है. दुनियाभर में चर्चा हो रही है कि 21वीं सदी किसकी सदी है? हिन्दुस्तान की हर छोटी-मोटी घटना पर दुनिया की नजर है. भारत में किसी बेटी से रेप होता है तो दुनियाभर में चर्चा होती है. लोग दुखी होते हैं. घटना कोई भी हो दुनिया का ध्यान खींच रहा है भारत. चाहे सरबजीत का मामला हो, पुणे बम ब्लास्ट की घटना हो या फिर सीमा पर हमारे जवानों का सिर काटने का मामला हो. दुनिया में जैसे भारत की अच्छाई की चर्चा हो रही है, वैसे ही बुरी बातों की भी चर्चा हो रही है. हर बारीक बातों का विश्लेषण होना स्वाभाविक है.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम सर्वांगीण विकास का सपना देख रहे हैं. गुजरात में सिर्फ एक कोने का ही विकास नहीं हो रहा है. यहां चौतरफा विकास हो रहा है. हमने विकास के रूप को बदल दिया है. हमारे विरोधी न जाने क्या-क्या गालियां देंगे, लेकिन जिस रास्ते पर हम गुजरात को ले गए हैं उसकी चर्चा दुनियाभर में हो रही है. हमने राज्य में रास्तों का नेटवर्क बनाया, हर जगह इस बात की चर्चा हो रही है. हमने जो इंफ्रास्ट्रक्चर का नया मॉडल दिया उसकी हर जगह चर्चा हो रही है. तहसीलों तक मेडिकल और इंजिनियरिंग कॉलेजों को पहुंचाया. 10 साल के भीतर 44 यूनिवर्सिटियां खुलीं. एजुकेशन सिस्टम में बदलाव किया. कई नए कोर्सों को राज्य के यूनिवर्सिटियों में लागू करवाया. स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बनाई क्योंकि दुनिया भर में इसकी मांग है. मोदी इशारों−इशारों में नीतीश पर भी वार करते दिखे. उन्होंने कहा कि बिना नदी और समंदर के किनारे हजारों किलोमीटर की बंजर जमीन के बावजूद उनके राज्य में कृषि की जबरदस्त प्रगति हुई है और यह प्रगति बिना उपयुक्त संसाधनों के हुई है.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे पतंग ने दुनिया में हमारी पहचान बनाई. गरीब पतंग बनाने वालों ने इसे बिजनस का रूप दिया, इसमें जान भर दी. यह आज अरबों-खरबों का बिजनस है. गुजरात पहले भी था, लेकिन जैसा आज है वैसा नहीं था. टूरिज्म में गुजरात का डंका बज रहा है. अमिताभ बच्चन भी कह रहे हैं कि जिन्होंने गुजरात नहीं देखा कुछ नहीं देखा. कुछ दिन तो बिताओ गुजरात में. पहले भी सबकुछ था लेकिन विजन नहीं था. हमने रेगिस्तान में जान फूंक दी. हमने रन ऑफ कच्छ में जान फूंक दी. लाखों लोग कच्छ महोत्सव में आते हैं. करोड़ों का बिजनस होता है यहां पर.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि टाइगर को बचाने के लिए केंद्र सरकार न जाने कितनी योजनाएं चला रही है, लेकिन शेरों की तरफ किसी का ध्यान नहीं है. राज्य सरकार की नीतियों की बदौलत गुजरात में शेरों की संख्या बढ़ रही है. कुपोषण पर भले ही हमारे विरोधी कुछ भी कहें पर, कैग ने भी अपनी रिपोर्ट में गुजरात के कुपोषण मैनेजमेंट की तारीफ की है. विरोधी इस बात की चर्चा नहीं करते. हम टेक्नॉलजी को गांव-गांव तक पहुंचाना चाहते हैं ताकि विकास के रेस में हमारा राज्य पीछे न हो.गुजरात सरकार की बुराई करने वाली कांग्रेस समर्थित केंद्र सरकार भी हमारे कामों की तारीफ करती है. अवॉर्ड देती है. यकीन न हो तो, आप भारत सरकार की वेबसाइट पर जाकर हमारी उपलब्धियों को देख सकते हैं.

मोदी ने कहा कि दिल्ली की सरकार पर किसी को भरोसा नहीं रह गया है. उसकी नीतियों पर किसी को भरोसा नहीं है. उच्च पदों पर बैठे लोगों के आचरण ने जनता का भरोसा तोड़ा है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in