पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल >दिल्ली Print | Share This  

आईपीएल फिक्सिंग के बचाव में बीसीसीआई

आईपीएल फिक्सिंग के बचाव में बीसीसीआई

नई दिल्ली. 18 मई 2013

फिक्सिंग में श्रीसंत


आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में फंसे खिलाड़ियों का बीसीसीआई ने अप्रत्यक्ष रुप से बचाव किया है. बीसीसीआई के अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने कहा है कि केवल पुलिस के कहे पर भरोसा नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि हर कहानी के दो पहलू होते हैं. अब यह पुलिस को ही साबित करना है कि रॉजस्थान रॉयल्स के श्रीशांत, चंदीला और अंकित चव्हाण ने स्पॉट फिक्सिंग की है या नहीं. श्रीनिवासन ने एक तरह से तीनों खिलाड़ियों को बेकसूर बताने की कोशिश की है.

श्रीनिवासन ने एक अखबार से बातचीत में कहा कि भारत का कानून कहता है कि जब तक आप दोषी साबित न हो जाएं, तब तक आप बेगुनाह हैं. पुलिस ने उन्हें शक के आधार पर गिरफ्तार किया है। अब यह पुलिस की जिम्मेदारी है कि खिलाड़ियों पर लगे आरोपों को साबित करे. श्रीनिवासन ने कहा कि आज की तारीख में श्रीशांत और चंदीला के वकील स्पॉट फिक्सिंग से इंकार कर रहे हैं. ऐसे में उन्हों दोषी ठहराना सही नहीं है.

इधर श्रीशांत के वकील दीपक प्रकाश ने कहा है कि मीडिया में आई खबरें सही नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जो भी सबूत दिल्ली पुलिस ने पेश किए हैं, वे कुछ भी साबित नहीं करते. उन्होंने सट्टेबाजों से न तो पैसा लिया है और न ही वह किसी सट्टेबाज के संपर्क में थे. जब वह बेकसूर हैं तो कुछ भी स्वीकार करने का सवाल ही पैदा नहीं होता. उन्होंने कहा कि श्रीशांत ने तमाम आरोपों से इंकार किया है और यह मामला अदालत में टिकेगा नहीं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in