पहला पन्ना >राज्य >उ.प्र. Print | Share This  

स्मारक घोटाले में मायावती को क्लीनचिट

स्मारक घोटाले में मायावती को क्लीनचिट

लखनऊ. 20 मई 2013

khalid mujahid


उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को लोकायुक्त ने लखनऊ और नोएडा के मूर्ति स्मारक घोटाले में क्लीन चिट दे दी है. लोकायुक्त न्यायमूर्ति एन के मेहरोत्रा ने अपनी जाँच में दो पूर्व मंत्रियों बाबू सिंह कुशवाहा और नसीमुद्दीन सिद्दीकी को दोषी पाया गया है. उन्होंने मामले की जाँच रिपोर्ट सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंप दी है.

रिपोर्ट में लोकायुक्त ने कहा है कि स्मारकों को बनाने में हुए इस घोटाले में सरकार को 1400 करोड़ रुपयों की चपत लगी है. मामले में कुशवाहा और सिद्दीकी के अलावा कई जनप्रतिधियों, वकीलों और उत्तर प्रदेश के पीडब्ल्यूडी और नगर निगम के इंजीनियरों, वकीलों को मिला कर कुल 200 लोगों को दोषी करार दिया गया है.

लोकायुक्त के विश्लेषण के अनुसार इनके निर्माण में खर्च हुए कुल रकम के लगभग 30 फीसदी का दुरुपयोग किया गया है. उनके अनुसार स्मारक बनाने के लिए पैसे लेकर ठेकदारों को ठेका दिया गया और ठेके का पेमेंट होते समय भी ठेकेदारों से पैसे बसूले गए. लोकायुक्त ने भरपाई के लिए दोषी व्यक्तियों से वसूली किए जाने की सिफारिश भी की है.