पहला पन्ना >खेल > Print | Share This  

खेलों में भ्रष्टाचार रोकने बनेगा नया कानून

खेलों में भ्रष्टाचार रोकने बनेगा नया कानून

नई दिल्ली. 25 मई 2013

लाल कृष्ण आडवाणी


केंद्रीय कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा है कि सरकार जल्द ही खेलों में फिक्सिंग और सट्टेबाज़ी जैसे गोरखधंधों से निपटने नया कानून लाएगी. सिब्बल ने बताया कि ये कानून न सिर्फ क्रिकेट बल्कि बाकी अन्य खेलों में इस तरह की घटनाओं को रोकने में कारगार होगा. माना जा रहा है कि नए कानून का ड्राफ्ट 2-3 दिनों में तैयार कर लिया जाएगा और इसे मानसून सत्र में ही इसे अमलीजामा भी पहना दिया जाएगा.

सिब्बल ने बताया कि अटॉर्नी जनरल जी.ई.वाहनवती ने भी इस पर अपनी सहमति जताई है क्योंकि मौजूदा कानूनों के दायरे में फिक्सिंग जैसी गतिविधियां नहीं आती और इसीलिए कई बार आरोपियों को कड़ी सज़ा नहीं मिल पाती है. उन्होंने बताया कि नया कानून में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों की फिक्सिंग पर ही नहीं बल्कि कारपोरेट, अंडरवर्ल्ड और सटोरियों या अन्य कोई भी जो खेल को प्रभावित करने की कोशिश करेगा पर लागू होगा.

दरअसल काफी लंबे समय में फिक्सिंग जैसी अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए नए कानून की मांग हो रही थी क्योंकि मौजूदा कानून में ये गतिविधि जुर्म के अंतर्गत नहीं आती. इसी के चलते 1999-2000 में फिक्सिंग के मामलों में पकड़ाए खिलाड़ी और बुकियों पर ठोस कार्रवाई नहीं हो पाई थी. बरसों से की जा रही इस मांग को आईपीएल में फिक्सिंग सामने आने के बाद बल मिला था.

शुक्रवार को ही आईपीएल कमिश्नर राजीव शुक्ला और भाजपा नेता अरुण जेटली ने सिब्बल से मिल कर नए कानून बनाए जाने की सिफाऱिश की थी जिस पर केंद्र सरकार ने मुहर लगा दी है. हालांकि आईपीएल के फिक्सिंग और सट्टेबाजी के मौजूदा मामले इस कानून के दायरे से बाहर ही रहेंगे.