पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

चारा घोटाले में पूर्व सांसद सहित दस को सज़ा

चारा घोटाले में पूर्व सांसद सहित दस को सज़ा

रांची. 3 जून 2013

Arushi Talwar


बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले में सुनवाई करते हुए सीबीआई की एक विशेष अदालत ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के एक पूर्व सांसद आर.के.राणा, भाजपा के पूर्व विधायक ध्रुव जगत को पाँच-पाँच वर्ष कैद और ढाई-ढाई लाख जुर्माने की सज़ा दी है. मामला चारा घोटाले में गोड्डा कोषागार से अवैध रूप से 37 लाख रुपए निकालने का है.

रांची में जज सीताराम प्रसाद की विशेष सीबीआई अदालत ने मामले में राज्य पशुपालन विभाग के क्षेत्रीय निदेशक ओ पी दिवाकर, लोकलेखा समिति के अध्यक्ष ध्रुव भगत समेत 10 अभियुक्तों को चार से छह वर्ष तक कैद और दस लाख रुपये तक के जुर्माने की सजा सुनाई है.

सज़ा पाने वाले में कोषागार अधिकारी राकेश कुमार सिन्हा, कोषागार लेखाकार बालकृष्ण दूबे, कोषागार सहायक भानुकर दूबे, आपूर्तिकर्ता राजेश कुमार सिन्हा, बजट एवं लेखा पदाधिकारी ब्रज भूषण प्रसाद, आपूर्तिकर्ता नरेश प्रसाद, पशु चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अजीत कुमार सिन्हा भी शामिल हैं. इनके अलावा गिरीश कुमार सिन्हा और महेंद्र प्रसाद को साक्ष्यों के अभाव में मुक्त कर दिया गया है.

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के शासन काल में हुए चारा घोटाले में कुल 63 मामले दर्ज किये गये थे, जिनमें से 41 मामले वर्ष 2000 में झारखंड प्रदेश के गठन के बाद यहां स्थानांतरित कर दिये गये थे. इस घोटाले में लालू प्रसाद यादव स्वयं भी आरोपी हैं. इन मामलों में इससे पहले 61 आरोपियों को सज़ा सुनाई जा चुकी है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

मुकेश कुमार [] भागलपुर, बिहार - 2013-06-04 12:55:15

 
  क्या सच्ची सजा होगी? भरोसा नहीं होता। उधर पप्पू यादव निर्दोष घोषित किए गए हैं।  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in