पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >उ.प्र. Print | Share This  

लैपटॉप के बदले मांगे रुपए, प्राचार्य गिरफ्तार

लैपटॉप के बदले मांगे रुपए, प्राचार्य गिरफ्तार

लखनऊ. 6 जून 2013

up govt laptop


उत्तरप्रदेश में एक महाविद्यालय के प्राचार्य को राज्य की अखिलेश यादव सरकार की लैपटॉप वितरण योजना के अंतर्गत बांटे जा रहे लैपटॉप के बदले रुपए मांगने पर गिरफ्तार किया गया है. आम आदमी पार्टी के एक कार्यकर्ता अमित सिंह द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन से इस मामले का खुलासा हुआ है. स्टिंग से पता चला है कि इलाके के श्री सच्चा अध्यात्म संस्कृत महाविद्यालय का प्राचार्य लैपटॉप के बदले 2500 रुपए छात्रों ले वसूल रहा था.

मामले के सामने आने पर जिले के डीएम के निर्देश पर इस मामले की जाँच एसडीएम ने की है. बताया जा रहा है कि राज्य के चंदौली जिले के श्री सच्चा अध्यात्म संस्कृत महाविद्यालय में 48 लैपटॉप बंटने के लिए पहुँचे हैं लेकिन महाविद्यालय प्रशासन द्वारा इनके एवज में ढाई हज़ार रुपए वसूले जा रहे हैं.

इस गोऱखधंधे का पता चलने पर आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता अमित सिंह जानकारी लेने महाविद्यालय पहुँचा तो वहां एक कर्मचारी ने यह कहते हुए ढाई हजार रुपये प्रति लैपटाप सुविधा शुल्क की मांग की कि इसे ऊपर से नीचे तक सभी को देना है. कर्मचारी के अलावा महाविद्यालय के प्राचार्य विनय शुक्ला ने भी सुविधा शुल्क का जायज़ ठहराया.

इसके बाद अमित सिंह ने स्टिंग ऑपरेशन कर मामले पर प्रकाश डाला. अब महाविद्यालय के प्रार्चाय विन्य शुक्ला, कर्मचारी मुराहू तिवारी को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है जबकि एक अन्य आरोपी कर्मचारी फरार हो गया है.

 

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

madhu [] oman - 2013-06-06 07:09:45

 
  जब बड़े बड़े डाके पड़ रहे हैं और उन डाकुओं को कुछ नहीं हो रहा है तो प्राचार्य जी की क्या गलती, यह भी तो देखों कितनी छोटी सी रकम मांगने की हिम्मत कर रहे थे. 
   
 

Ashutosh Kumar [] Chapra - 2013-06-06 05:49:20

 
  जब देश के सभी प्रमुख नेता ही भ्रष्ट हों तो ये लोग क्यों बचे रहे क्योंकि सबसे कमजोर तो जनता ही है कि जो मन में आया और जो कहा वो कानून होगा. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in