पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

आडवाणी के घर मोदी समर्थकों का हंगामा

आडवाणी के घर मोदी समर्थकों का हंगामा

नई दिल्ली. 8 जून 2013

Junk Food


नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग पर अड़े मोदी समर्थकों ने शनिवार को वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के निवास के बाहर जमकर प्रदर्शन किया. नरेंद्र मोदी आर्मी और हिंदू सेना का बैनर लिए इन प्रदर्शनकारियों ने मोदी के समर्थन में नारे लगाए और मांग की कि आडवाणी मोदी के आड़े न आएं और उन्हें बड़ी भूमिका सौंपे जाने के लिए समर्थन दें.

इस प्रदर्शन के दौरान आडवाणी बाहर नहीं आये और न हीं उनकी ओर से कोई प्रतिक्रिया दी गई है. बताया जा रहा है कि इस प्रदर्शन को लेकर गोवा अधिवेशन में सुषमा स्वराज ने गहरी नाराज़गी जताई है. इधर पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा है कि प्रदर्शन करने वाले भाजपा कार्यकर्ता नहीं थे और उनसे पार्टी का कुछ लेना देना नहीं है.

गौरतलब है कि गोवा में चल रहे भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले पार्टी के कई वरिष्ठ नेता अचानक अस्वस्थ हो गए थे. अधिवेशन में उमा भारती, जसवंत सिंह, योगी आदित्यनाथ, शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा, मेनका गांधी, रविशंकर प्रसाद, वरुण गांधी, लालकृष्ण आडवाणी जैसे नेता नदारद हैं. इन में से अधिकतर ने अपनी अनुपस्थिति के पीछे अस्वस्थता का हवाला दिया था.

भाजपा आधिकारिक रूप से दावा कर रही है कि आडवाणी सचमुच बीमारी के चलते अधिवेशन का हिस्सा नहीं बन पाएं हैं लेकिन सूत्रों की मानें तो भाजपा में मोदी को लेकर जमकर आंतरिक राजनीति चल रही है. पार्टी पूरी तरह से दो खेमों में बंटी दिख रही है जिसमें एक खेमा आडवाणी समर्थकों का है जो मोदी को बड़ी जिम्मेदारी देने के पक्ष में नहीं है वहीं दूसरा खेमा उनके जैसे वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी कर मोदी समर्थन में आगे बढ़ना चाह रहा है.

भाजपा की इस आंतरिक कलह ने कांग्रेस को उस पर चुटकी लेने का मौका दे दिया है. कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा कि जब मोदी की वजह से, भाजपा के नेता ही बीमार पड़ने लगे हैं तो उनकी वजह से देश का क्या हाल होगा. वहीं रेणुका चौधरी ने इस बीमारी के पीछे `नमोनाइटिस' वाइरस का प्रकोप बताया है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in