पहला पन्ना >कला >दिल्ली Print | Share This  

पूनम पांडेय को जब चढ़ा नशा

पूनम पांडेय को जब चढ़ा नशा

मुंबई. 9 जून 2013

पूनम पांडेय


पूनम पांडेय ने कहा है कि अगर कोई उनका इंटरव्यू करना चाहता है तो उसे इसके लिये फीस देनी पड़ेगी. पूनम के बारे में यह खबर आने के बाद से ही कहा जाने लगा है कि पूनम की फिल्म नशा बाद भी आएगी, उन्हें फिल्म के सफल होने का नशा अभी से चढ़ गया है. वैसे जिन्हें ये भ्रम हो कि पूनम पांडेय की फिल्म नशा में न्यूड दृश्य मिलेंगे, उन्हें ये जान कर निराशा होगी कि सेंसर के बाद या तो यह फिल्म ए ग्रेड की घोषित हो जायेगी या फिर फिल्म के अधिकांश कथित बोल्ड दृश्य काटने पड़ेंगे. अभी तक सेंसर का जो रुख है, उससे यह अनुमान लगाना मुश्किल नहीं है कि पूनम की यह फिल्म मूलतः भट्ट कैंप के लिये स्त्री देह बेचने से बड़ा मामला नहीं है.

गौरतलब है कि नशा फिल्म का पोस्टर जारी करने के अवसर पर फिल्मकार मुकेश भट्ट ने नशा को एक अलग फिल्म बताते हुये कहा था कि पूनम पांडेय के लिए यह फिल्म बहुत महत्वपूर्ण होगी. फिल्म के निर्देशक अमित ने उन्हें जिस तरह से पेश किया है, अन्य कोई ऐसा नहीं कर पाता. मुकेश भट्ट ने कहा था कि वे एक महान अभिनेत्री हैं और उन्होंने जिस तरह से काम किया है, वह उनके करियर को अलग उंचाई देगा.

लेकिन इस कसीदेकारी से अलग एक बड़ा मुद्दा यह है कि फिल्म का प्रचार-प्रसार पूरी तरह पूनम पांडेय के देह पर आधारित है. संकट ये है कि इस तरह की फिल्मों को कोई परिवार के साथ देखने जाने से रहा और जो दूसरा वर्ग बचता है, उसके पास ऐसी हजारों-लाखों फिल्में हैं, जो पोर्न साइटों पर उपलब्ध हैं. ऐसे में पूनम की इस फिल्म को दर्शकों का टोंटा पड़ जाये तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिये.