पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

आडवाणी नेता बने तो एनडीए में आएंगे-शरद

आडवाणी नेता बने तो एनडीए में आएंगे-शरद

पटना. 12 जून 2013

Nitish Kumar


भाजपा और एनडीए से रिश्ता तोड़ने वाले जदयू संयोजक शरद यादव ने कहा है कि अगर भाजपा की कमान लालकृष्ण आडवाणी को सौंप दी जाये तो उनकी पार्टी एक बार फिर से एनडीए में लौट सकती है. हालांकि उन्होंने इस मुद्दे पर कुछ और कहने से इंकार कर दिया.

इधर नीतीश कुमार ने भाजपा के आरोपों पर सफाई देते हुये कहा है कि जिसने अपने पुरखों के साथ विश्‍वासघात किया हो, उसे ऐसी बातें कहने का कोई हक नहीं है. नीतीश कुमार ने कहा कि हम 17 साल पुराने गठबंधन को छोडना नहीं चाहते थे, यही कारण है कि हमने भाजपा के साथियों को बातचीत के लिए बुलाया, लेकिन वे नहीं आये.

हमने कैबिनेट की भी बैठक बुलाई, लेकिन वे यहां भी नहीं है, ऐसे में हमें गठबंधन से अलग होने का निर्णय लेना पड़ा. नीतीश ने कहा कि इसलिए विश्वासघात हमने नहीं किया, बल्कि भाजपा की ओर से किया गया है. उन्होंने कहा कि आज भाजपा की कार्यसंस्कृति बदल गयी है. वे अपने बुजुर्गों को भूल गये हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अटल-आडवाणी को भी भूल गयी है. जॉर्ज फर्नांडिस को भूलने की बात पर नीतीश ने कहा कि हम उनका हमेशा आदर करते हैं और करते रहेंगे. हम उन्हें भूले नहीं, बल्कि उनकी तबीयत खराब थी, जिसकी वजह से पार्टी से वे दूर हुए. नीतीश कुमार ने कहा कि भाजपा के नेताओं ने जिस तरह का व्यवहार किया, उसके बाद गठबंधन में रहना संभव नहीं था. नीतीश कुमार ने कहा कि हमने बहुत दुख और पीड़ा के साथ इस गठबंधन से बाहर आने का फैसला किया और यह मजबूरी में लिया गया फैसला है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

yogendra Singh Chaudhary [yogendra.chaudhary271@gmail.com] Sadabad, Mathura, UP - 2013-06-18 11:37:52

 
  I was very shocked to see the decision of Sh. Nitish Km CM Bihar. In my whole family of about 60 members, his corrector was very high but now i thinks that this decision is below dignity of Mr Nitish Kumar and down grades image. I pray to Nitish to revert his decision for national interest. I have no personal.... you will be highly appreciate for the same otherwise Your step will be count down as like a greedy person not.....and this will be black spot of your life. Thanks....... 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in