पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

ओबामा की हत्या की साजिश विफल

ओबामा की हत्या की साजिश विफल

न्यूयॉर्क. 21 जून 2013

bitti mohanty


अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को घातक एक्स रे किरणों के जरिए मारने की साजिश फेडेरेल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टीगेशन (एफबीआई) की सतर्कता से नाकाम हो गई है. मामले में दो आरोपियों ग्लैन्डेन स्कोट क्रॉफोर्ड (49) और एरिक जे.फ्राइड (54) को गिरफ्तार कर लिया गया है. एफबीआई ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इन दोनों ने एक्सरे किरणों का एक ऐसा सिस्टम विकसित किया था जिससे रिमोट को जरिए घातक किरणें दागीं जा सकती थी.

आरोपियों ने अपने हथियार का नाम `हिरोशिमा ऑन ए लाइट स्वीच` रखा था. उनकी योजना इस घातक हथियार का इस्तेमाल कर बराक ओबामा की जान लेने की थी. लेकिन एफबीआई ने समय रहते इनकी योजना का पता लगा लिया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ करने आरोपियों ने कहा कि ओबामा हाल ही में हुए बोस्टन हमलों के जिम्मेदर थे इसीलिए उन्होंने ओबामा का मारने की योजना बनाई. उसने 15 अप्रैल को हुए बोस्टन हमले के बाद सरकार को मैसेज कर कहा था कि मुस्लिमों को अमरीका में बिना जाँच के आने दिया जाए.

एफबीआई ने कहा है कि क्रॉफोर्ड कू क्लूक्स क्लेन का सदस्य है और उसने पिछले साल क्रॉफोर्ड के खिलाफ जांच तब शुरू की थी जब वो एक यहूदी उपासनागृह में गया था और ऐसी तकनीक के बारे में पता लगा रहा था जिससे सोते हुए इजरायली दुश्मनों को मार दिया जाए. उपासनागृह ने एफबीआई को इसकी सूचना दी थी जिसके बाद एजेंसी को क्रफोर्ड पर शक हुआ था.