पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

खत्म किया जाए अनुच्छेद-370: आडवाणी

खत्म किया जाए अनुच्छेद-370: आडवाणी

नई दिल्ली. 23 जून 2013

लाल कृष्ण आडवाणी


भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने देश के संविधान के अनुच्छेद-370 को हटाने की वकालत की है. उनका कहना है कि इससे जम्मू और कश्मीर को भारत में पूरी तरह से शामिल होने में मदद प्राप्त होगी. आडवाणी ने यह विचार भाजपा के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 60वीं पुण्यतिथि पर लिखे अपने ब्लॉग में व्यक्त किए हैं..

इंडिपेंडेंट इंडियाज फस्र्ट मार्टियर फॉर नेशनल इंटीग्रेशन शीर्षक वाले इस ब्लॉग पोस्ट में आडवाणी लिखते हैं, `यह देश उत्सुकता से उस दिन का इंतजार कर रहा है, जब अनुच्छेद 370 को हटाया जाएगा और दो विधान एक हो जाएंगे’, अनुच्छेद-370 जम्मू कश्मीर राज्य को विशेष संवैधानिक दर्जा प्रदान करता है. इस अनुच्छेद को हटाया जाना भाजपा की शुरुआती मांगों में से एक रहा है हालांकि पिछले कुछ समय से ये मामला ठंडे बस्ते में ही पड़ा हुआ था.

आडवाणी ने यह भी लिखा है कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मौत के बाद कई ऐसे सिलसिलेवार घटनाक्रम हुए जिनसे राष्ट्रीय एकीकरण की प्रक्रिया को बल मिला. गौरतलब है कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी जम्मू कश्मीर को इस अनुच्छेद के तहत विशेष दर्जा दिए जाने के खिलाफ थे. उन्होंने 1953 में पूर्ववर्ती जनसंघ के पहले राष्ट्रीय सम्मेलन में नारा दिया था, ‘एक देश में दो प्रधान, दो निशान, दो विधान, नहीं चलेंगे, नहीं चलेंगे’.

इसके बाद के घटनाक्रम में जम्मू कश्मीर पुलिस ने उन्हें बिना परमिट के राज्य में प्रवेश करने पर गिरफ्तार कर लिया था और बाद में हिरासत में खराब सेहत के कारण उनका निधन हो गया. हालांकि इस दावे को मुखर्जी के समर्थक खारिज करते हुए उनकी मौत के पीछे साजिश बताते हैं.