पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल >लगे Print | Share This  

धोनी ने बताया जीत का राज

धोनी ने बताया जीत का राज

बर्मिंघम. 24 जून 2013

महेंद्र सिंह धोनी


महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि हमारी क्रिकेट टीम दबाव झेलने में सफल रही और यही कारण है कि हमें सफलता मिली है. धोनी ने कहा कि जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे तो मैंने बल्लेबाजों से कहा कि 130 के करीब तक लेकर जाओ. बाद में हमें बारिश से भी मदद मिली, क्योंकि बाद में गेंद ग्रिप करने लगी थी. धोनी ने कहा कि कम स्कोर वाले मैच में दबाव से निपटना अहम साबित हुआ. मैंने टीम से कहा कि हम नंबर एक टीम हैं और इसी तरह खेलकर दिखाएंगे.

इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने चैंपियंस ट्राफी 2013 के एक रोमांचक फाइनल में इंग्लैंड को 5 रन से हराकर खिताब पर कब्जा कर लिया. जीत के लिए मिले 130 रन के टारगेट का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में 8 विकेट पर 124 रन ही बना सकी. भारत के लिए ईशांत, अश्विन और जडेजा ने 2-2 विकेट झटके, जबकि इंग्लैंड के लिए मोर्गन ने सबसे अधिक 33 और बोपारा ने 30 रन बनाए. रवींद्र जडेजा को मैन ऑफ द मैच और शिखर धवन को मैन ऑफ द सीरीज घोषित किया गया.

गौरतलब है कि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में इससे पहले भारत 2007 में टी-20 विश्वकप और वर्ष 2011 में 50 ओवरों का वर्ल्ड कप जीत चुका है. भारत ने दूसरी बार चैंपियंस ट्राफी के खिताब पर कब्जा जमाया. इससे पहले वर्ष 2002 में वह श्रीलंका के साथ संयुक्त विजेता बना था.

टॉस जीतकर पहले बोलिंग के फैसले को सही साबित करते हुए इंग्लैंड के बॉलर्स ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत को 20 ओवर में 7 विकेट पर 129 रन ही बनाने दिए. भारत के लिए विराट कोहली ने सबसे अधिक 43 और रवींद्र जडेजा ने 33 रनों की नाबाद पारी खेली. टूर्नामेंट के टॉप स्कोरर रहे शिखर धवन ने 31 रनों की पारी खेली. भारत की शुरुआत खराब रही और रोहित शर्मा को महज 9 रन के निजी स्कोर पर ब्रॉड ने बोल्ड कर दिया.

इसके बाद धवन और कोहली ने संभलकर बैटिंग करते हुए दूसरे विकेट के लिए 31 रनों की साझेदारी करते हुए स्कोर 50 रन तक पहुंचाया. धवन, बोपारा का शिकार बने. दिनेश कार्तिक (6), रैना (1) और कप्तान धोनी (0) सस्ते में निपट गए. भारत के 5 विकेट महज 66 रन पर गिर गए थे. इसके बाद कोहली और जडेजा ने मिलकर छठे विकेट के लिए 47 रन जोड़ते हुए भारत को कुछ हद तक मुसीबत से उबार लिया और आखिर में टीम इंडिया 20 ओवरों में 7 विकेट खोकर 129 रन का स्कोर बनाने में कामयाब रही. कोहली ने 34गेंदों पर 4 चौकों और 1 छक्के की मदद से 43 रन और जडेजा ने सिर्फ 25 गेंदों पर 2 चौकों और इतने ही छ्क्कों की मदद से 33 रनों की पारी खेली. इंग्लैंड के लिए रवि बोपारा ने 4 ओवर में सिर्फ 20 रन देकर 3 विकेट झटके और भारतीय मिडिल ऑर्डर को टिकने नहीं दिया.

इसके बाद 130 रन के टारगेट का पीछा करने उतरे इंग्लैंड की शुरुआत खराब रही और उमेश यादव ने दूसरे ही ओवर में कुक को 2 रन निजी स्कोर पर अश्विन के हाथों कैच आउट कराकर भारत को जोरदार शुरुआत दियाई. इसके बाद शुरू हुआ अश्विन और जडेजा का जादू और दोनों ने न सिर्फ इंग्लैड को रन बनाने के लिए तरसाया बल्कि विकेट भी झटके. बेल, रूट और ट्रॉट सस्ते में आउट हो गए. बेल (13) को जडेजा, जबकि ट्रॉट (20) और रूट (7) को अश्विन ने आउट किया.

इसेक बाद रवि बोपार और इयोन मोर्गन ने पांचवें विकेट के लिए 64 रनों की तेजतर्रार साझादारी करते हुए भारतीय खेमें में हलचल मचा दी. लेकिन, 18वें ओवर में ईशांत शर्मा ने दो लगातार गेंदों पर मोर्गन और बोपारा को आउट कर टीम इंडिया की मैच में वापसी करा दी. अंतिम ओवर में इंग्लैंड की टीम को जीत के लिए 15 रनों की जरूरत थी. पहली 5 गेंदों पर 9 रन बने. अंतिम गेंद पर जीत के लिए 6 रन बनाने थे लेकिन अश्विन की इस गेंद पर ट्रेडवेल कोई रन नहीं बना सके और उनकी टीम 5 रन से मैच गंवा बैठी.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in