पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >व्यापार >दिल्ली Print | Share This  

सोना के लिये ऋण को मंजूरी

सोना के लिये ऋण को मंजूरी

नई दिल्ली. 28 जून 2013

सोना


सोने के लिये बैंकों से ऋण दिये जाने को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने हरी झंडी दिखा दी है. रिजर्व बैंक का कहना है कि आभूषण निर्यातक सोने के आयात के लिये बैंकों तथा अन्य संस्थानों से ऋण ले सकते हैं. रिजर्व बैंक का कहना है कि ऐसा किये जाने से निर्यात की प्रक्रिया तेज होगी.

रिजर्व बैंक ने यह अनुमति ऐसे दौर में दी है, जब उसने एक दिन पहले ही कहा था कि भारत के समक्ष पिछले छह महीने में वृहत आर्थिक जोखिम बढ़े हैं. अपनी द्विवार्षिक वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट में बैंक ने कहा था कि पिछले छह महीने में अर्थव्यवस्था के वृहद स्तर पर जोखिम बढ़ा है. इसका कारण आर्थिक वृद्धि में गिरावट, बाह्य क्षेत्र की घटानएं तथा कंपनियों का प्रदर्शन है. इसी महीने रिजर्व बैंक ने बैंक ऋण के जरिये घरेलू उपभोक्ताओं द्वारा सोने के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था.

अब रिजर्व बैंक का कहना है कि सोना के लिये ऋण दिये जाने को सकारात्मक तरीके से देखने की जरुरत है. रिजर्व बैंक ने बैंकों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि बैंक ऋण उन इकाइयों को नहीं मिलेगा, जो आभूषण निर्यात कारोबार में नहीं है. रिजर्व बैंक ने बयान में कहा कि सोने के आयात के लिये कर्ज की अनुमति होगी. पर यह अनुमति उन्हीं इकाइयों के लिये होगी जो आभूषण निर्यात के काम में लगे हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in