पहला पन्ना >खेल >दिल्ली Print | Share This  

धोनी ने फिर बजाया डंका, हारा श्रीलंका

धोनी ने फिर बजाया डंका, हारा श्रीलंका

पोर्ट ऑफ स्पेन. 12 जुलाई 2013

महेंद्र सिंह धोनी


कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर सफलता को अपने कदमों में रखा है. उनकी कप्तानी में भारत ने श्रीलंका को एक विकेट से हरा दिया है. इसके साथ गुरूवार को पोर्ट ऑफ़ स्पेन हुए मैच के बाद भारत ने त्रिकोणीय सीरीज़ अपने नाम कर लिया है. कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने 52 गेंदों पर 5 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 45 रनों की नाबाद पारी खेली।भारत को जीत के लिए 202 रन बनाने थे जो उसने 49 ओवर और चार गेंदो में बना लिया.

धोनी ने आख़िरी ओवर में 15 रन बनाए. अंतिम ओवर में भारत को जीत के लिए 15 रनों की जरूरत थी और उसका सिर्फ एक विकेट आउट होना बाकी था. महेन्द्र सिंह धोनी ने शमिंडा इरिंगा के आखिरी ओवर में दूसरी गेंद पर छक्का और अगली दो गेंदों पर 1 चौका और 1 छक्का जमाते हुए हुए 16 रन बनाए और मैच के साथ-साथ खिताब पर भी भारत का नाम लिख दिया.

इससे पहले धोनी ने टॉस जीते के बाद गेंदबाज़ी का फैसला किया था. श्रीलंका ने 48.5 ओवरों में 201 बनाए.भारत को पहले 10 ओवरों में कोई बहुत सफ़लता नहीं मिल पाई. मैदान उबड़ खाबड़ था और भारत इन ओवरों में महज़ 26 रन ही जुटा पाया. श्रीलंका के लिए कुमार संगकारा ने सर्वाधिक 71 रन बनाए, जबकि थिरिमाने ने 46 रनों की पारी खेली. इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 122 रनों की साझेदारी की. भारत के लिए जडेजा ने सबसे अधिक 4 विकेट लिए. जबकि भुवनेश्वर, ईशांत और अश्विन ने 2-2 विकेट चटकाए.

थिरिमाने और संगकारा की साझेदारी टूटते ही श्रीलंका के विकेटों की झड़ी लग गई. भारतीय टीम की शानदार बोलिंग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक समय 2 विकेट खोकर 171 रन बना चुकी श्रीलंकाई टीम के अंतिम 8 विकेट सिर्फ 30 रन जोड़कर ही गिर गए.

इधर भारत की तरफ से जब रोहित शर्मा 58 रन पर आउट हुए तो एक बार लगा कि भारत की पारी लड़खड़ा रही है लेकिन बाद में महेंद्र सिंह धोनी ने पारी का पूरा नज़ारा ही बदलकर रख दिया.

भारत की तरफ़ से रविन्द्र जडेजा सबसे सफल गेंदबाज़ रहे और उन्होंने 24 रन देकर चार विकेट हासिल किए. भूवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा और आर अश्विन को दो-दो विकेट हासिल हुए.