पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

सिर्फ मोदी नहीं, पूरी भाजपा सांप्रदायिक: अन्ना

सिर्फ मोदी नहीं, पूरी भाजपा सांप्रदायिक: अन्ना

नई दिल्ली. 19 जून 2013

anna hazare


समाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे का कहना है कि उन्होंने कभी भी गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को गैर-सांप्रदायिक व्यक्ति नहीं बताया है. उन्होने यह कहा कि भारतीय जनता पार्टी सांप्रदायिक पार्टी है और चूंकि मोदी अगले आम चुनाव के लिए भाजपा की ही अगुवाई कर रहे हैं इसिलिए वे भी सांप्रदायिक ठहराए जा सकते हैं.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले इंदौर के एक अखबार में खबर छपी थी कि अन्ना हज़ारे मोदी को सांप्रदायिक नेता नहीं मानते हैं और उन्होंने कहा है कि उनके सामने मोदी के सांप्रदायिक होने के कोई सबूत नहीं आया है. इसके बाद अन्ना मोदी विरोधियों के निशाने पर आ गए थे.

इस खबर का खंडन करते हुए अन्ना ने कहा है कि समाचार पत्र ने मोदी से संबंधित उनके बयान को गलत छापा है और उन्होंने कभी भी नहीं कहा कि मोदी सांप्रदायिक नहीं हैं.  अन्ना ने कहा “मैं यह कह नहीं सकता, क्योंकि मेरे पास इसके सबूत नहीं है. मैंने कभी मोदी की प्रशंसा नहीं की है.”

यहीं नहीं अन्ना ने मोदी को निशाने पर लेते हुए कहा कि मोदी ने आज तक गोधरा कांड की निंदा नहीं की. अन्ना ने आगे कहा कि देश को लोकपाल विधेयक की जरूरत है, सांप्रदायिकता की नहीं, क्योंकि यह समाज को बांटेगी.