पहला पन्ना >राज्य >पश्चिम Print | Share This  

पश्चिम बंगाल: चुनावी हिंसा में छह की मौत

पश्चिम बंगाल: चुनावी हिंसा में छह की मौत

कोलकाता. 21 जुलाई 2013

हिंसा


पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनावों के दौरान चल रही हिंसा में राज्य के अलग-अलग इलाकों में छह लोगों की जान चली गई है. सोमवार को चौथे दौर की वोटिंग होनी है जिसमें मालदा, मुर्शिदाबाद और नाडिया जिलों में वोट पड़ेंगे लेकिन वोटिंग से एक दिन पहले ही इन इलाकों से लगातार हिंसा की खबरें आ रही हैं.

ताज़ा मामले में शनिवार रात को मुर्शिदाबाद जिले में तीन कांग्रेसी कार्यकर्ताओं रिपन शेख, नूरूल और हयात की लाश मिली है जबकि जिले के जियागंज इलाके में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समर्थक सुभाष नाम के शख्स की लाश मिली है. वहीं मालदा में तृणमूल और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की झड़प में तृणमूल के उम्मीदवार की जान चली गई.

इसके अलावा बीरभूम जिले के कर्ण गांव में कई निर्दलीय उम्मीदवारों के घरों में आग लगी दी गई और दक्षिण 24 परगना जिले के बासंती इलाके के पानीखली गांव में करीब डेढ़ सौ घरों में तोड़फोड़ की गई वहीं निरदेशखली गांव में भी 50 घरों में आग लगा दी गई. ये घर उन लोगों के हैं जो सीपीएम समर्थक हैं. लगातार हो रही इस हिंसा के लिए कांग्रेस और सीपीएम ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार बताया है. 

इससे पहले भी राज्य के अलग-अलग जिलों में हो रहे पंचायत चुनावों के पहले तीन दौरों में लगातार हिंसा की खबरें आ रही थी. जगह-जगह तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा विरोधी पार्टी के उम्मीदवारों की पिटाई करने, उनके समर्थकों को वोट न डालने देने की खबरें आती रही हैं लेकिन प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के कारण राज्य में हिंसा का माहौल बना हुआ है.