पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

बहुमत मिलने पर बनाएंगे राम मंदिर: भाजपा

बहुमत मिलने पर बनाएंगे राम मंदिर: भाजपा

लखनऊ. 28 जुलाई 2013


आगामी लोकसभा चुनावों को देखते हुए भाजपा एक बार फिर राम मंदिर के मुद्दे पर लौट आई है. पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा है कि चुनावों में पूर्ण बहुमत मिलने पर हम अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाएंगे भले ही इसके लिए संविधान में संशोधन क्यों न करना पड़े. उल्लेखनीय है कि इससे पहले पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा था कि राम मंदिर चुनावी मुद्दा नहीं है.

वाजपेयी ने राम मंदिर को आस्था का विषय बताते हुए कहा है कि मंदिर आंदोलन की शुरुआत विश्व हिंदू परिषद ने की थी और बाद में उनकी पार्टी ने भी नारा दिया कि कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे. उन्होने यह भी कहा कि मंदिर निर्माण तभी होता जब वहां स्थान रिक्त होता और यह स्थान भी हिंदू समाज की वजह से खाली हो पाया है.

यह पूछे जाने पर कि अब तक मंदिर निर्माण क्यों नहीं हो पाया है वाजपेयी ने कहा कि चुनावों में पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं हासिल हो पाने की वजह से अभी तक मंदिर निर्माण नहीं हो पाया है.

राष्ट्रवाद के मुद्दे पर वाजपेयी ने कहा, "हिंदुत्व ही राष्ट्रवाद है, राष्ट्रवाद ही हिंदुत्व है. भारत माता के दुख में दुखी और सुख में सुखी होने वाला हर पंथ और धर्म का व्यक्ति राष्ट्रवादी हो सकता है."

वाजपेयी ने पार्टी के चुनावी मुद्दों के बारे में बोलते हुए कहा कि चुनाव सुशासन, विकास और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर ही लड़ा जाएगा. इसके अलावा महंगाई, करप्शन एवं आंतरिक तथा बाह्य सुरक्षा के साथ खिलवाड़ भी प्रमुख मुद्दा बनेगा.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in